यह लड़की जाना चाहती है पति के पास, UP सरकार ने नहीं दिया जवाब तो सुप्रीम कोर्ट नाराज

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : September 20, 2019 08:07:48 AM
सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

सुप्रीम कोर्ट ने पति के पास भेजने की मांग कर रही नाबालिग मुस्लिम लड़की की याचिका पर उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से जवाब न मिलने पर नाराजगी जाहिर की है. सुप्रीम कोर्ट ने राज्य के गृह सचिव को सोमवार को व्यक्तिगत रूप से पेश होने के लिए कहा है.

यह भी पढ़ेंः उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के ढाई साल पूरे, क्या-क्या हुआ काम जानिए यहां

बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 16 साल की लड़की के निकाह को अवैध ठहराते हुए उसे नारी निकेतन में रखने का आदेश दिया था. इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को नाबालिग लड़की ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को नोटिस जारी किया था.

यह भी पढ़ेंः काशी में जब अर्थी को परिवार की बहू-बेटियों ने दिया कंधा, होने लगी हर तरफ चर्चा

लड़की का कहना है कि उसने मुस्लिम कानून के हिसाब से निकाह किया है. मुस्लिम कानून के मुताबिक, शादी के लिए लड़की की न्यूनतम उम्र 18 साल न होकर प्यूबर्टी (रजस्वला) की उम्र है, जो उसकी हो चुकी है. लिहाजा उसकी शादी को अवैध नहीं करार दिया जा सकता.

First Published: Sep 19, 2019 12:07:01 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो