CAB के खिलाफ JDU कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन, नीतीश कुमार को बताया धोखेबाज

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 10, 2019 06:47:53 PM
नीतीश कुमार

नीतीश कुमार (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Bill) को लेकर जेडीयू दो भागों में बंट गया है. जेडीयू के कार्यकर्ताओं ने जंतर-मंतर पर उग्र प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने बिल की कॉपी फाड़ी. इसके बाद जेडीयू ऑफिस में तोड़फोड़ की. कैब को लेकर हंगामा कर रहे जेडीयू कार्यकर्ताओं ने नीतीश कुमार को धोखेबाज बताते हुए कहा कि उन्होंने मुस्लिमों के नाम पर वोट लिया और जब उनके समर्थन की बात आई तो वो बिल को समर्थन दे दिया.

बता दें कि सोमवार को लोकसभा में जेडीयू ने इस बिल का समर्थन किया. लेकिन पार्टी के अंदर इसे लेकर सबकुछ ठीक नहीं. इस विधेयक के समर्थन को लेकर अब विरोध के स्वर फूट रहे हैं. जेडीयू के उपाध्यक्ष और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर इस फैसले को निराशाजनक बता रहे हैं.

इसे भी पढ़ें:असदुद्दीन ओवैसी ने CAB पर शिवसेना के समर्थन को लेकर कह दी ये बड़ी बात

प्रशांत किशोर ने ट्वीट करके कहा, 'नागरिकता संशोधन विधेयक पर जद (यू) के समर्थन से निराशा हुई है. यह विधेयक धर्म के आधार पर नागरिकता प्रदान करने वाला है, जो भेदभावपूर्ण है.'

उन्होंने आगे कहा, 'जद (यू) के द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन पार्टी के संविधान से भी अलग है, जिसमें पहले ही पन्ने पर धर्मनिरपेक्षता शब्द तीन बार लिखा हुआ है.'

इतना ही नहीं प्रशांत किशोर ने सीएम नीतीश कुमार को भी आड़े हाथों लिया. उन्होंने आगे कहा कि नागरिकता संशोधन विधेयक पर पार्टी का समर्थन पार्टी के नेतृत्व की विचारधारा से मेल नहीं खाता है, जो कि महात्मा गांधी के विचारों से प्रेरित है.

और पढ़ें:उन्नाव दुष्कर्म मामले में कुलदीप सेंगर के खिलाफ 16 दिसंबर को आएगा फैसला

सोमवार को लोकसभा में इस बिल पर चर्चा के दौरान जेडीयू के नेता राजीव रंजन सिंह ने कहा कि यह बिल सेकुलरिज्म की भावना को मजबूत करने वाला है. उन्होंने कहा कि इसमें उन शरणार्थियों को नरक से निकालने वाला है, जो अपना घर और सम्मान छोड़कर आए हैं. जेडीयू नेता ने कहा कि यह बिल कहीं से भी धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांत को चुनौती नहीं देता है.

First Published: Dec 10, 2019 06:47:53 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो