जानें क्या हैं नारियल तेल के फायदे, स्किन के लिए करता है नैचुरल मॉइश्चराइजर का काम

नारियल तेल त्वचा के लिए नैचुरल मॉइश्चराइजर का काम करता है, यह मृत त्वचा (डेड स्किन) को हटाकर रंग निखारता है, चूंकि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है, तो इसका इस्तेमाल त्वचा रोग, डर्मेटाइटिस, एक्जिमा और स्किन बर्न में किया जा सकता है।

  |   Updated On : July 22, 2018 02:09 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:  

नारियल तेल के लगातार इस्तेमाल से कई फायदे होते हैं। अब ऐसे में बात हो नारियल तेल की तो बरसों से दादी-नानी के नुस्खों में नारियल तेल हमेशा से मौजूद रहा है। कई गुणों से भरपूर यह तेल फायदों के लिए पीढ़ियों से इस्तेमाल में लाया जा रहा है। बदलते लाइफस्टाइल में यह और भी ज्यादा कारगर है। नारियल तेल के इस्तेमाल के क्या फायदे हैं, बता रही हैं 'बिड़ला आयुर्वेद' की आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉक्टर प्रियंका संपत:

नारियल तेल त्वचा के लिए नैचुरल मॉइश्चराइजर का काम करता है, यह मृत त्वचा (डेड स्किन) को हटाकर रंग निखारता है, चूंकि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है, तो इसका इस्तेमाल त्वचा रोग, डर्मेटाइटिस, एक्जिमा और स्किन बर्न में किया जा सकता है। नारियल तेल स्ट्रेच मार्क्‍स हटाने में भी मदद करता है और होंठ को फटने से बचाने के लिए भी इसे नियमित रूप से होंठ पर लगाया जा सकता है।

नारियल तेल बालों को घना, लंबा और चमकदार बनाने में काफी मददगार साबित होता है। नारियल तेल से सिर्फ पांच मिनट तक सिर की मसाज करने से न सिर्फ रक्त संचार में वृद्धि होती है, बल्कि खो चुके पोषक तत्वों की भी भरपाई करता है। नियमित रूप से नारियल तेल से मसाज करने से बालों में रूसी नहीं होता है।

और पढ़ें- मॉनसून सत्रः दूसरे दिन लोकसभा में भगोड़ा आर्थिक अपराध बिल पर होगी चर्चा, राज्यसभा में RTI संशोधन बिल होगा पेश

नारियल तेल को मुंह में करीब 20 मिनट तक रखने के बाद थूक देने से मुंह के कीटाणु और मसूड़ों की समस्याएं दूर होती है। स्वस्थ मसूड़ों के लिए सप्ताह में कम से कम तीन बार ऐसा करें।

आयुर्वेद में पित्त वृद्धि के कारण नारियल तेल का इस्तेमाल गठिया, जोड़ों के दर्द को कम करने के लिए किया जाता है। यह हड्डियों में कैल्शियम और मैग्नीशियम अवशोषित (अब्जॉर्ब) करने की क्षमता में सुधार करता है।

'हिंदूजा हेल्थकेयर सर्जिकल' में टीम लीडर डायटीशियन इंद्रायनी पवार ने नारियल तेल के लाभ संबंधी ये बातें बताई हैं:

नारियल तेल के इस्तेमाल से वजन भी कम किया जा सकता है। ताजे नारियल से निकाले गए तेल में अन्य नारियल तेलों की अपेक्षा ज्यादा मीडियम चेन फैटी एसिड्स (70-85 प्रतिशत) होता है।

मीडियम चेन फैटी एसिड्स आसानी से ऑक्सीडाइज्ड लिपिड्स होते हैं और एडीपोज ऊतक(टिशू) में संग्रहित नहीं होते हैं। इस प्रकार, मुख्य रूप से मीडियम चेन फैटी एसिड युक्त नारियल का तेल वजन घटाने में मददगार साबित होता है।

नारियल तेल लॉरिक एसिड और कैप्रिक एसिड की तरह एंटीमाइक्रोबियल लिपिड का एक समृद्ध स्रोत होता है, जो एंटीफंगल और जीवाणुरोधी(एंटी बैक्टीरियल) होते हैं।

खाना पकाने में नारियल का तेल ज्यादा अच्छा रहता है। इसका तेल ऑक्सीकरण (ऑक्सीडेशन) के प्रति कम असुरक्षित होता है, जो इसे खाना पकाने के लिए सबसे सुरक्षित बनाता है।

और पढ़ें- केजरीवाल ने मंत्रियों से कहा, भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ साक्ष्य जुटाएं

First Published: Thursday, July 19, 2018 08:28 AM

RELATED TAG: Cocunut Oil, Benefits Of Coconut Oil Best Oil For Skin, Oil For Skin,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो