BREAKING NEWS
  • PAK के मंत्री शेख रशीद बोले- मोदी चाहते हैं कि पाकिस्तान भीख का कटोरा लेकर खड़ा रहे- Read More »

समाजवादी परिवार के लिए पार्टी खत्म, क्या बसपा के साथ गठबंधन पड़ा महंगा ?

IANS  |   Updated On : May 24, 2019 02:07:35 PM

(Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के तीन सदस्यों डिंपल यादव, धमेंद्र यादव और अक्षय यादव की हार शायद हाल के दिनों में सपा प्रमुख अखिलेश यादव को सबसे बड़ा झटका है. डिंपल यादव कन्नौज में हार गईं, धमेंद्र यादव बदायूं में हार गए और अक्षय यादव फिरोजाबाद में हार गए. ये तीनों 16वीं लोकसभा में सांसद थे. लोकसभा चुनाव के परिणामों से यह स्पष्ट है कि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ गठबंधन के बावजूद समाजवादी पार्टी हार गई. साल 2014 में पार्टी ने परिवार के भीतर पांच सीटों पर जीत हासिल की थी और पिछले साल आठ सीटों तक की बढ़त हासिल की थी जब गोरखपुर, फूलपुर और कैराना के उपचुनाव में सपा को जीत हासिल हुई थी.

यह भी पढ़ें- 2014 में उत्‍तर प्रदेश से नहीं था एक भी मुस्‍लिम सांसद, इस बार जानें कितने

अभी-अभी सम्पन्न हुए चुनाव में सपा पांच सीटों के साथ वापस आई, जिनमें से पार्टी ने परिवार के लिए दो सीटों पर जीत हासिल की. मुलायम सिंह (Mulayam Singh) को मैनपुरी और आजमगढ़ में अखिलेश यादव को जीत हासिल हुई है. जीतने वाले तीन अन्य उम्मीदवार आजम खान रामपुर में, शफीकुर्रहमान बर्क संभल में और एसटी हसन मुरादाबाद में जीते. परिवार के बाहर ये सभी तीन उम्मीदवार मुस्लिम हैं. 

नाम न बताने की शर्त पर सपा के एक वरिष्ठ नेता ने शुक्रवार को कहा, 'यह गठबंधन एक भयंकर गलती साबित हुई और यह जमीनी स्तर तक कम नहीं हुआ है. साल 2014 के मोदी लहर में हमने अपनी जमीन बनाई थी, लेकिन इस बार अच्छा महसूस करने के लिए कुछ भी नहीं है.' उन्होंने आगे कहा, 'पार्टी के वरिष्ठ नेता चुनाव हार गए हैं और अब जल्द ही बसपा के साथ गठबंधन के फैसले के खिलाफ आलोचना शुरू हो जाएगी, जिसने इस गठबंधन का लाभ उठाया है.'

यह भी पढ़ें- Loksabha Election Results 2019: उत्तर प्रदेश में कौन जीता और कौन हारा, देखें पूरी लिस्ट

दूसरी ओर, बसपा इस गठबंधन के साथ खुद को पुनर्जीवित करने में कामयाब रही. साल 2014 में जिस पार्टी ने एक भी सीट नहीं जीती थी, उसने इस बार दस सीटें जीती हैं. अंबेडकर नगर, अमरोहा, गाजीपुर, घोसी, जौनपुर, लालगंज, नगीना, सहारनपुर, बिजनौर और श्रावस्ती में पार्टी ने जीत हासिल की है. यह साफ है कि समाजवादी पार्टी ने इन सीटों पर बसपा को अपने वोट स्थानांतरित किए हैं, लेकिन बसपा का वोट सपा के उम्मीदवारों को स्थानांतरित नहीं हुआ.

यह वीडियो देखें- 

First Published: May 24, 2019 02:07:29 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो