BREAKING NEWS
  • अगर सीमा पार बैठे मास्टरमाइंड और आतंकियों ने कोई गलती की तो पूरी सजा मिलेगी, मुंबई में बोले पीएम मोदी- Read More »
  • हरियाणा में सनी देओल ने वोटरों से बोले- अगर वोट नहीं दिया तो ये ढाई किलो का हाथ...- Read More »

अब भारत में भी पैसा बनाएंगे मशहूर निवेशक वॉरेन बफे (Warren Buffetts), यहां करेंगे निवेश

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : September 10, 2019 09:06:51 AM
 वारेन बफे (Warren Buffet) - फाइल फोटो

वारेन बफे (Warren Buffet) - फाइल फोटो (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

देश की एक और दिग्गज कंपनी बिकने जा रही है. दरअसल, बैटरी (Battery) बनाने वाली कंपनी एवरेडी (Eveready) भारी कर्ज के बोझ तले दबी हुई है. यही वजह है कि कंपनी अपना कुछ हिस्सा बेचने जा रही है. वॉरेन बफे (Warren Buffetts) की बर्कशर हैथवे की ड्यूरासेल इंक (Duracell) ने बी एम खेतान की कंपनी एवरेडी इंडस्ट्रीज की बैटरी और फ्लैशलाइट कारोबार को खरीदने की योजना बनाई है. बता दें कि इस डील के लिए एनर्जाइजर होल्डिंग्स भी होड़ में थी. गौरतलब है कि भारी कर्ज की वजह से पिछले कुछ वर्षों में देश में जेट एयरवेज, किंगफिशर एयरलाइंस और रिलायंस टेलिकॉम जैसी कंपनियां दम तोड़ चुकी हैं.

यह भी पढ़ें: ज्वैलरी इंडस्ट्री (Jewellery Industry) पर भी मंदी का साया, पैदा हो सकता है रोजगार संकट, GJC का बड़ा बयान

कितने में होगी डील
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ड्यूरासेल और एवरेडी में यह डील 1,600-1,700 करोड़ रुपये में हो सकती है. बता दें कि इस डील के तहत मैन्युफैक्चरिंग प्लांट, डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क और एवरेडी ब्रांड शामिल किए जाएंगे. दोनों ही पक्षों के बीच बातचीत आखिरी चरण में है और जल्द ही डील को लेकर घोषणा हो सकती है. गौरतलब है कि खेतान फैमिली और ड्यूरासेल के बीच डील को लेकर काफी समय से बातचीत चल रही थी. इसके अलावा अमेरिकी कंपनी एनर्जाइजर से भी डील की संभावना तलाशी जा रही थी. बता दें कि अमेरिका और चीन में एनर्जाइजर के पास एवरेडी ब्रांड है. खेतान परिवार कुछ प्राइवेट इक्विटी कंपनियों से भी सौदे के लिए बातचीत कर रहा था.

यह भी पढ़ें: SBI ने फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) और कर्ज (Loan) को लेकर किया बड़ा फैसला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिकी कंपनी ड्यूरासेल को सिर्फ भारत में एवरेडी ब्रांड पर मालिकाना हक मिल पाएगा. डील पूरा होने के बाद ड्यूरासेल को 1.5 अरब बैटरियां और सालाना 2 करोड़ से ज्यादा फ्लैशलाइट्स उत्पादन करने वाले वाले बिजनेस का स्वामित्व मिल जाएगा. इस बिजनेस से करीब 900 करोड़ रुपये की आमदनी होती है. बता दें कि एवरेडी पर यूको बैंक, एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank), ICICI बैंक, आरबीएल बैंक, इंडसइंड बैंक समेत कई लेंडिंग इंस्टीट्यूशंस का कुल 700 करोड़ रुपये का कर्ज है. ऐसे में यह डील कंपनी को कर्ज चुकाने में काफी मददगार साबित होगा.

First Published: Sep 10, 2019 09:06:51 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो