Hyderabad Encounter : 1 दिसंबर को ही लिखी जा चुकी थी 'स्‍क्रिप्‍ट!', पुलिस ने तो बस...

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : December 07, 2019 01:19:32 PM
Hyderabad Encounter : 1 दिसंबर को ही लिखी जा चुकी थी 'स्‍क्रिप्‍ट'

Hyderabad Encounter : 1 दिसंबर को ही लिखी जा चुकी थी 'स्‍क्रिप्‍ट' (Photo Credit : ANI Twitter )

नई दिल्‍ली :  

तेलंगाना (Telangana) में महिला डॉक्‍टर से रेप और उन्‍हें जिंदा जलाने के आरोपियों का एनकाउंटर (Encounter) शुक्रवार यानी 6 दिसंबर की सुबह में हुआ. हैरानी की बात यह है कि इस तरह की एक 'स्‍क्रिप्‍ट' सोशल मीडिया (Social Media) में वायरल हो रही है. हैदराबाद एनकाउंटर (Hyderabad Encounter) के बाद पुलिस ने जो हालात बताए, ठीक वैसा ही उस 'स्‍क्रिप्‍ट' में लिखा हुआ है. इससे भी अधिक हैरानी इस बात से हो रही है कि वह 'स्‍क्रिप्‍ट' 1 दिसंबर को लिखी गई है और हैदराबाद एनकाउंटर 6 दिसंबर को हुआ.

यह भी पढ़ें : 'मुझे पैसे-मकान नहीं चाहिए, बस बेटी के हत्‍यारों को मारकर उसे इंसाफ दे दें, बोले उन्‍नाव रेप पीड़िता के पिता

दरअसल, सोशल मीडिया पर एक ट्वीट वायरल हो रहा है. ट्वीट 1 दिसंबर की शाम को किया गया था. इस ट्वीट में कहा गया है, 'सर! अगर आप चाहें तो इन आरोपियों को सजा दे सकते हैं. आप क्राइम सीन क्रिएट करने के बहाने आरोपियों को वहां ले जाएं, जहां पीड़िता को जिंदा जलाया गया था. मुझे पूरी उम्‍मीद है कि वे भागने की कोशिश करेंगे. और तब पुलिस के पास उन्‍हें गोली मारने के अलावा कोई और विकल्‍प नहीं बचेगा. कृपया इस विकल्‍प को लेकर एक बार सोचें.' हालांकि NEWSSTATE इस तरह के ट्वीट की पुष्‍टि नहीं करता है. 

एक दिन पहले हैदराबाद के पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने अपने प्रेस कांफ्रेंस में जिस तरह एनकाउंटर के घटनाक्रम की बयां किया, इस ट्वीट से मेल खाता है. पुलिस कमिश्नर वीसी सज्जनार ने बताया था, 'रिमांड के चौथे दिन 10 पुलिसकर्मियों की टीम सभी 4 आरोपियों को लेकर मौका-ए-वारदात पर सीन रिक्रिएट कराने के लिए ले गई थी, ताकि सबूत इकट्ठे किए जा सकें. वारदात की जगह पहुंचने के बाद दो आरोपियों आरिफ और चिंताकुटा ने पुलिसकर्मियों के हथियार छीनकर फायरिंग की, जबकि बाकी के दो आरोपियों ने पुलिस पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए थे. सभी आरोपी पुलिस पर हमला करते हुए फरार होने की फिराक में थे. जिसके जवाब में पुलिस ने आरोपियों पर फायरिंग की थी, जिसमें सभी आरोपी मारे गए.'

यह भी पढ़ें : उन्नाव गैंगरेपः पीड़िता के भाई ने कहा- जलाने लायक कुछ नहीं बचा, शव गांव में दफनाएंगे

कमिश्नर ने कहा, 'पुलिस ने आरोपियों को सरेंडर करने को कहा था, लेकिन उनलोगों ने सरेंडर नहीं किया और लगातार फायरिंग करते रहे. आरोपियों की ओर से हुई फायरिंग में हैदराबाद पुलिस के दो अफसरों के भी घायल होने की खबर है, जिन्‍हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

First Published: Dec 07, 2019 12:33:55 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो