BREAKING NEWS
  • Nude Photo Shoot: सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहा है मराठी एक्ट्रेस का फोटोशूट, फैंस हुए बेकाबू- Read More »

मिठाई का एक डिब्बा ही बन गया अहम सुराग, कमलेश तिवारी के कातिलों तक ऐसे पहुंची पुलिस

डालचंद  |   Updated On : October 19, 2019 03:00:30 PM
कमलेश तिवारी

कमलेश तिवारी (Photo Credit : फाइल फोटो )

लखनऊ:  

राजधानी लखनऊ में हुए हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने तीन लोगों को गुजरात के सूरत से गिरफ्तार किया है. उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने 24 घंटे में इस हत्याकांड का पर्दाफाश करने का दावा किया है. उन्होंने शनिवार को पत्रकारों को बताया कि घटनास्थल से जांच के दौरान मिले मिठाई के डिब्बे से अहम सुराग मिले और गुजरात पुलिस की मदद से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया.

यह भी पढ़ेंः यूपी सरकार ने मानी शर्तें, अंतिम संस्कार के लिए राजी हुआ कमलेश तिवारी का परिवार

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि कमलेश तिवारी की हत्या का षड्यंत्र रचने के मामले में गुजरात से मौलाना शेख सलीम, फैजान और राशिद पठान को हिरासत में लिया गया है. उन्होंने कहा, 'हमने कमलेश तिवारी के घर पर मिले मिठाई के डिब्बे के आधार पर गुजरात पुलिस से संपर्क किया. लखनऊ पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज को काफी गहनता से खंगाला. इस केस को खोलने में लखनऊ और गुजरात पुलिस का समन्वय रहा.' 

ओपी सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया, 'हमें शुरू से आशंका थी कि हत्याकांड के तार गुजरात से जुड़े हैं. हमें महत्वपूर्ण सुराग मिले थे और हम उसी पर बढ़ते हुए सफल रहे. घटनास्थल से जांच के दौरान मिले मिठाई के डिब्बे से अहम सुराग मिले और गुजरात पुलिस की मदद से तीन आरोपियों को हिरासत में लिया गया. तीनों अपराधियों मौलाना मोसिन सलीम शेख, फैजान जिलानी और रशीद पठान का गुजरात से कनेक्शन है.'

यह भी पढ़ेंः सूरत में ऐसे पकड़े गए कमलेश तिवारी की हत्या के आरोपी, सामने आया Video

डीजीपी ने स्पष्ट कहा, 'प्रारंभिक विवेचना से स्पष्ट है कि तीनों इस हत्याकांड में शामिल रहे हैं. इसके साथ ही मुख्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी की तैयारी कर रहे हैं. एडीजी लखनऊ जोन से और टीम को सूरत भेज सकते हैं और जरूरत पड़ने पर उन्हें लखनऊ लाकर पूछताछ करेंगे.'

First Published: Oct 19, 2019 03:00:30 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो