MP: राजगढ़ में CAA समर्थकों और अफसरों में झड़प, कलेक्टर ने BJP कार्यकर्ता को जड़े चांटे, देखें Video

News State Bureau  |   Updated On : January 20, 2020 11:27:27 AM
MP: राजगढ़ में CAA समर्थकों और अफसरों में झड़प, कलेक्टर ने BJP कार्यकर्ता को जड़े चांटे, देखें Video

राजगढ़ में सीएए समर्थकों और अफसरों के बीच झड़प, देखें Video (Photo Credit : News State )

राजगढ़:  

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे लोगों और जिला प्रशासन के अधिकारियों के बीच टकराव हो गया. सीएए के समर्थन में तिरंगा यात्रा निकाल रहे भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को जब प्रशासन ने रोका तो वहां हालात बिगड़ने लगे. इस दौरान राजगढ़ की महिला कलेक्टर निधि निवेदिता एवं उनके अधीनस्थ काम कर रहीं डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने हाथापाई शुरू कर दी. उन्होंने एक कार्यकर्ता को पकड़कर चांटे मारे. इसी दौरान किसी ने कलेक्टर के बाल पकड़कर खींच लिए. विवाद बढ़ता देख पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया, जिसमें दो कार्यकर्ता घायल हो गए. इस सारी घटना के कुछ वीडियो भी वायरल हो गए हैं.

यह भी पढ़ेंः VIDEO: रेस्टोरेंट लॉन्चिंग के दौरान बीजेपी-कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़े, चलीं कुर्सियां 

दरअसल, राजगढ़ के ब्यावरा में भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने स्थानीय लोगों के साथ सीएए के समर्थन में रविवार को रैली निकालने का ऐलान किया था. धारा 144 लागू होने के बाद भी रविवार को बीजेपी कार्यकर्ता सीएए के समर्थन में तिरंगा यात्रा निकाल रहे थे, तभी वहां कलेक्टर निधि निवेदिता और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के साथ पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने कार्यकर्ताओं को प्रदर्शन करने से रोका, लेकिन वह नहीं माने. कलेक्टर निधि निवेदिता ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की.

इस दौरान उन्होंने एक कार्यकर्ता को पकड़कर चांटे मारने शुरू कर दिए. जिससे विवाद और बढ़ गया. नाराज प्रदर्शनकारियों ने इन कलेक्टर से भी बदसलूकी की और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा की चोटी खींचने के साथ-साथ उसके कमर में बहुत तेज से लात भी मारी.

यह भी पढ़ेंः मैं धमकियों से डरने वाली नहीं, मेरी रक्षा भगवान करते हैं : साध्वी प्रज्ञा 

रैली में शामिल लोगों और प्रशासन के अधिकारियों के बीच जमकर धक्का-मुक्की शुरू हो गई. डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने भी कार्यकर्ताओं को पकड़कर घसीटना शुरू कर दिया. स्थिति बिगड़ने लगी तो पुलिस जवानों ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोग किया. इस मामले में दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई और एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा राजगढ़ में धारा -144 के उल्लंघन के लिए भी एफआईआर दर्ज की गई है. एफआईआर में 124 लोगों का नाम है, जिसमें से 17 लोगों को हिरासत में ले लिया गया है.

भाजपा ने इन दोनों अधिकारियों द्वारा सीएए के समर्थकों को पीटे जाने पर कहा कि आज का दिन लोकतंत्र के सबसे काले दिनों में गिना जायेगा. इसके अलावा, भाजपा ने आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया और दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है, मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने आरोप लगाया कि राजगढ़ के ब्यावरा में सीएए समर्थन रैली में नागरिकों पर प्रशासन द्वारा लाठीचार्ज किया गया और इसकी निंदा भी की. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ से दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है.

First Published: Jan 20, 2020 11:00:00 AM

RELATED TAG:

न्यूज़ फीचर

वीडियो