हैदराबाद एनकाउंटर पर आरजेडी नेता राबड़ी देवी ने कही ये बड़ी बात

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 06, 2019 11:51:23 AM
हैदराबाद एनकाउंटर पर आरजेडी नेता राबड़ी देवी ने कही ये बड़ी बात

हैदराबाद एनकाउंटर पर आरजेडी नेता राबड़ी देवी ने कही ये बड़ी बात (Photo Credit : फाइल फोटो )

पटना:  

हैदराबाद में एक युवा महिला पशु चिकित्सक की निर्मम सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के एक हफ्ते बाद पुलिस ने शादनगर के पास एक 'मुठभेड़' में चारों आरोपियों को मार गिराया है. आम जनता से लेकर बॉलीवुड खेलजगत और राजनेता भी हैदराबाद पुलिस की इस कार्रवाई की प्रशंसा कर रहे हैं. राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की नेता और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने तेलंगाना पुलिस की सराहना की है.

यह भी पढ़ेंः हैदराबाद में तो हो गया 'इंसाफ', मगर इन बेटियों को बिहार पुलिस कब दिला पाएगी न्याय

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री से हैदराबाद की मुठभेड़ को लेकर सवाल पूछा गया तो राबड़ी देवी ने कहा, 'हैदराबाद में जो हुआ वह निश्चित रूप से अपराधियों के खिलाफ एक निवारक के रूप में काम करेगा, हम इसका स्वागत करते हैं.' राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में भी महिलाओं के खिलाफ अपराधों के मामले बढ़ रहे हैं. यहां राज्य सरकार शिथिल है और कुछ नहीं कर रही है.

गौरतलब है कि 25 वर्षीय पशु चिकित्सक के साथ 27 नवंबर की रात शमशाबाद में आउटर रिंग रोड के पास दो ट्रक ड्राइवरों और दो क्लीनरों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। इसके बाद चारों ने घटनास्थल से 28 किलोमीटर दूर शादनगर शहर के पास शव ले जाकर उसे आग के हवाले कर दिया था। पुलिस चारों आरोपियों को शुक्रवार की सुबह को घटना को दोबारा रीक्रिएट करने के लिए घटनास्थल पर लेकर आई थी। कथित तौर पर चारों आरोपियों ने वहां से भागने की कोशिश की थी, जिसके बाद पुलिस मुठभेड़ में वे मारे गए.

यह भी पढ़ेंः देश में दूसरा सबसे भ्रष्ट राज्य है बिहार, इंडिया करप्शन सर्वे की रिपोर्ट से खुलासा

वहीं पीड़िता के पिता का भी कहना है कि उनकी बेटी को आखिरकार न्याय मिला. दिल्ली में साल 2012 में हुए सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई निर्भया के पिता ने भी पशु चिकित्सक के सामूहिक दुष्कर्म और हत्यारोपियों के मुठभेड़ में मार गिराए जाने को लेकर तेलांगना पुलिस की पीठ थपथपाई है. उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि उन्होंने बहुत की अच्छा काम किया. अगर वे भाग जाते तो यह सवाल उठता कि पुलिस ने उन्हें भागने कैसे दिया. वहीं उन्हें दोबारा गिरफ्तार करना भी मुश्किल होता. अगर वे गिरफ्तार हो भी जाते तो उन्हें सजा देने की पूरी प्रक्रिया में बहुत अधिक समय लग जाता.

First Published: Dec 06, 2019 11:51:23 AM

RELATED TAG:

Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो