वेस्‍टइंडीज ने तो रन ही नहीं बनाए, नहीं तो विराट कोहली करते वो, जो आज तक नहीं हुआ

News State Bureau  |   Updated On : December 07, 2019 07:16:47 AM
भारत वेस्‍टइंडीज मैच में बल्‍लेबाजी करते हुए विराट कोहली

भारत वेस्‍टइंडीज मैच में बल्‍लेबाजी करते हुए विराट कोहली (Photo Credit : https://twitter.com/BCCI/status/1202987668562276352 )

New Delhi:  

Virat Kohli best innings In T20 : कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने अपनी शानदार बल्‍लेबाजी की दम पर भारत और वेस्‍टइंडीज (India vs West Indies) के बीच खेला गया पहला मैच भारत को जिता दिया. पहले बल्‍लेबाजी करने उतरी वेस्‍टइंडीज की टीम मात्र 207 रन ही बना सकी. T20 में 207 रन के लक्ष्य को महज कहना आपको थोड़ा अखर रहा होगा. लेकिन विराट कोहली (Virat Kohli) ने जिस तरह की बल्‍लेबाजी का मुजायरा पेश किया, वह अपने आप में अद्भुत था. जब वेस्‍टइंडीज की पारी खत्‍म हुई तो लगा कि भारत को बड़ा लक्ष्य हासिल करने के लिए मिला है और जब रोहित शर्मा (Rohit Sharma) जल्‍दी ही पवेलियन लौट गए तो यह लक्ष्य और भी पहाड़ जैसा लगने लगा था. अब तक T20 इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि भारत ने इतना बड़ा लक्ष्य हासिल किया हो, लेकिन पहले तो विराट कोहली (Virat Kohli) संभल कर खेल रहे थे, लेकिन बाद में जब वे अपने रंग में आए तो यह 200 रन से ज्‍यादा का लक्ष्य भी बौना सा दिखने लगा. 

यह भी पढ़ें ः ब्रायन लारा ने किया बड़ा खुलासा, जब विश्व रिकार्ड के दबाव में कैरियर के चरम पर...

आईसीसी की रैंकिंग में टेस्‍ट और वन डे के नंबर वन बल्‍लेबाज विराट कोहली T20 में अब तक एक भी शतक नहीं लगा पाए हैं, ऐसी बात विराट कोहली जैसे बल्‍लेबाज के लिए अजीब सी लगती है. शुक्रवार को वह दिन हो सकता था जब विराट कोहली अपना पहला शतक पूरा कर लेते, लेकिन अफसोस कि वेस्‍टइंडीज की टीम मात्र 207 रन ही बना सकी, अगर वेस्‍टइंडीज ने 8-10 रन और बना लिए होते तो विराट कोहली वह कारनामा भी कर दिखाते जो अब तक वे नहीं कर सके हैं, यानी शतक बना लेते. हालांकि इसके बाद भी विराट कोहली ने इस मैच में T20 में अपने जीवन का सर्वश्रेष्‍ठ स्‍कोर जरूर हासिल कर लिया.

यह भी पढ़ें ः IND VS AUS : 2021 में आस्‍ट्रेलिया भारत से एक से अधिक डे नाइट मैच खेलने का इच्‍छुक

वेस्‍टइंडीज की ओर से रखे गए 208 रनों के विशाल लक्ष्य को आसान साबित कर छह विकेट से जीत दर्ज की. भारत की इस जीत में विराट कोहली के साथ साथ लोकेश राहुल ने भी 62 रनों का योगदान दिया. इस जीत के साथ ही भारत ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है. यह भारत की ओर से टी-20 में हासिल किया गया अभी तक का सबसे बड़ा लक्ष्य है. इस मैच में 27 छक्के लगे जो किसी भी T20 अंतरराष्‍ट्रीय मैच में एक मैच में लगाए गए सबसे ज्यादा छक्के हैं. विराट कोहली की इस पारी ने शिमरन हेटमायेर (56), एविन लुइस (40) और विंडीज के कप्तान केरन पोलार्ड (39) की मेहनत पर पानी फेर दिया.

यह भी पढ़ें ः जब कपिल देव के कान में लगी थी बॉब विलिस की खतरनाक तेज गेंद

विंडीज ने भारत को विशाल लक्ष्य दिया और रोहित शर्मा (8) के 30 के कुल स्कोर पर आउट होने के बाद लगा कि भारत के लिए यह जीत मुश्किल हो सकती है, लेकिन केएल राहुल और विराट कोहली ने इसे अपनी बल्लेबाजी से आसान बना दिया. दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 100 रनों की साझेदारी की. राहुल को खैरी पिएरे ने 130 के कुल स्कोर पर केरन पोलार्ड के हाथों कैच कराया. सलामी बल्लेबाज ने 40 गेंदों की अपनी पारी में चार छक्के और पांच चौके लगाए. राहुल के बाद विराट कोहली ने बागडोर अपने हाथों में ली और विंडीज के हर गेंदबाज को सीमारेखा दिखा भारत को जीत दिलाई. उन्होंने अपनी पारी में 50 गेंदों पर छह चौके और छह छक्के लगाए. ऋषभ पंत ने नौ गेंदों पर दो छक्कों की मदद से 18 रन बनाए. श्रेयस अय्यर ने छह गेंदों पर चार रन बनाए. शिवम दुबे मैदान पर उतरे लेकिन वह एक भी गेंद खेले बिना वापस लौटे. कोहली की पारी शानदार इसलिए और रही क्योंकि उन्होंने पहली 20 गेंदों पर सिर्फ 20 रन बनाए थे, लेकिन इसके बाद खेली गई 30 गेंदों पर वह 74 रन जड़ गए.

यह भी पढ़ें ः ऋषभ पंत को लेकर रोहित शर्मा के साथ खड़े हुए विराट कोहली, बोले...

इससे पहले, कोहली ने टॉस जीतकर विंडीज को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया. मेहमान टीम ने 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर 207 रनों का स्कोर बोर्ड पर टांग दिया. हेटमायेर, लुइस और पोलार्ड के अलावा अंत में जेसन होल्डर की नौ गेंदों पर 24 रनों की पारी ने भी विंडीज को 200 पार ले जाने में बड़ा रोल अदा किया. दीपक चहर ने दूसरे ओवर में ही लेंडल सिमंस (2) को आउट कर भारत को पहली सफलता दिलाई और लगा कि भारतीय गेंदबाज कप्तान के फैसले को सही साबित कर मेहमान टीम को बड़ा स्कोर नहीं करने देंगे. लेकिन, दूसरे सलामी बल्लेबाज लुइस और ब्रेंडन किंग ने दूसरे विकेट के लिए 51 रनों की साझेदारी कर भारत के मंसूबों को पूरा नहीं होने दिया. लुइस ने 17 गेंदों की पारी में चार छक्के और तीन चौकों की मदद से ताबड़तोड़ 40 रन बनाए. लुइस के रूप में विंडीज ने अपना दूसरा विकेट खोया. 64 के कुल स्कोर पर वॉशिंगटन सुंदर ने उनको आउट किया. टीम को सौ का आंकड़ा पार कराने के बाद किंग, रवींद्र जडेजा की गेंद पर पंत द्वारा स्टम्पिंग कर दिए गए. उन्होंने 23 गेंदों पर 31 रन बनाए. यहां से हेटमायरे और पोलार्ड ने मोर्चा संभाला. दोनों ने अपने अंदाज के मुताबिक तेजी से रन बटोरे.

यह भी पढ़ें ः टी-20 रैंकिंग को लेकर भारतीय टीम के बचाव में उतरे कप्तान विराट कोहली

लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने 18वें ओवर में इन दोनों को आउट कर भारत को थोड़ी राहत दी. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 71 रनों की साझेदारी की. इसी के साथ चहल ने टी-20 क्रिकेट में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन की बराबरी कर ली. चहल ने 35 मैचों में 52 विकेट लिए हैं जबकि अश्विन के नाम 46 मैचों में 52 विकेट हैं. हेटमायेर ने 41 गेंदों पर दो चौके और चार छक्कों की मदद से 56 रन बनाए. वहीं पोलार्ड ने 19 गेंदों पर चार छक्के और एक चौके की सहायता से 39 रनों का योगदान दिया. भारत को यहां राहत नहीं मिली क्योंकि होल्डर ने इन दोनों के बचे काम को चौकों और छक्कों से अंजाम दिया. होल्डर ने अपनी पारी में दो छक्के और एक चौका लागया. उनके साथ दिनेश रामदीन सात गेंदों पर एक चौका लगाकर 11 रन बनाकर नाबाद रहे. भारत के लिए चहल ने दो विकेट लिए. सुंदर, जडेजा, चहर के हिस्से एक-एक सफलता आई.

First Published: Dec 07, 2019 07:16:47 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो