NIA ने भारत को दहलाने की साजिश पर फेरा पानी, 16 लोग हिरासत में

News State Bureau  |   Updated On : July 20, 2019 07:01:53 AM
सांकेतिक चित्र.

सांकेतिक चित्र. (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  तमिलनाडु बन रहा है आतंकियों का नया ठिकाना.
  •  भारत के खिलाफ साजिश रचने में 18 लोगों को हिरासत में लिया गया.
  •  सभी प्रतिबंधित संगठन सिमी समेत आईएस के प्रति रखते थे झुकाव.

नई दिल्ली.:  

देश के दुश्मन अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं, तो राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) उन्हें काबू में करने का हरसंभव प्रयास कर रही है. हाल ही में राष्ट्रीय जांच एजेंसी की जांच में खुलासा हुआ है कि तमिलनाडु समेत भारत के कई हिस्सों में आतंकी हमले की साजिश रची जा रही थी. एनआईए ने शनिवार को अंसारुल्ला मामले में सैयद मोहम्मद बुखारी के चेन्नई स्थित आवास और दफ्तर में छापेमारी की. एनआईए ने इसके साथ ही हसन अली युनुसमरिकर और हरीश मोहम्मद के तमिलनाडु के नागापट्टिनम स्थित घर पर भी छापेमारी की थी. ये सभी प्रतिबंधित संगठन सिमी के प्रति झुकाव रखते थे.

यह भी पढ़ेंः जिम्बाब्वे के खिलाफ श्रृंखला पर फैसले के लिए अक्टूबर तक इंतजार करेगा BCCI

18 लोगों को हिरासत में लिया गया
एनआईए ने इनके खिलाफ अंसारुल्ला नाम का आतंकी संगठन बनाकर भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश रचने का केस दर्ज किया था. इस दौरान करीब 16 लोग हिरासत में लिए गए जिनमें सभी तमिलनाडु से हैं. इन 16 लोगों में से 14 लोगों की पहचान कर ली गई है. एक बयान में एनआईए ने कहा कि, 'आरोपी व्यक्ति सक्रिय तौर पर लोगों को भारत में आतंकी हमले करने के लिए भर्ती कर रहे थे. वह अपने समर्थकों को आए दिन वीडियो और अन्य प्रोपेगेंडा वाली सामग्री देते थे. इसके साथ ही वह हमले करने के लिए लोगों को विस्फोटक, जहर, चाकू और गाड़ियों की ट्रेनिंग भी दे रहे थे.'

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक विधानसभा सत्र 22 जुलाई तक के लिए स्थगित, सोमवार को पेश होगा विश्वासमत

भारत के खिलाफ रच रहे थे बड़ी साजिश
एनआईए की ओर से जारी किए गए एक बयान में कहा गया है कि इस मामले में आईपीसी की धारा 12बी, 121ए और 122 के साथ ही गैरकानूनी गतिविधियों की धारा 17,18,18-बी,38 और 39 के तहत 9 जुलाई को मामला दर्ज किया गया है. एनआईए ने बताया है कि खुफिया जानकारी मिलने के बाद इस मामले में छापेमारी की गई थी. एनआईए ने आगे दावा किया कि उसने 9 जुलाई को 16 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. एनआईए के अनुसार, 'विश्वसनीय जानकारी के आधार पर, आरोपियों ने आतंकवादी संगठनों आईएसआईएस, दाएश, अल कायदा और सिमी के लिए झुकाव के कारण (स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया) भारत के भीतर और बाहर हमले की साजिश रची थी और आतंकवादी गिरोह अंसारुल्ला का गठन करके भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने की तैयारी की थी.'

First Published: Jul 20, 2019 07:01:53 AM
Post Comment (+)

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

वीडियो