हैदराबाद गैंग रेप केस की टाइम लाइन, जानें कैसे क्या हुआ था...

NEWS STATE BUREAU  |   Updated On : December 06, 2019 01:51:04 PM
घटनास्थल की फोटो.

घटनास्थल की फोटो. (Photo Credit : वीडियो )

New Delhi :  

किसी भी सभ्य इंसान को हिलाने वाले हैदराबाद गैंग रेप कांड के चारों आरोपी पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश में हुई मुठभेड़ में मारे गए. घटना को अंजाम देने के लगभग हफ्ते भर में ही पीड़िता को 'प्राकृतिक न्याय' मिला. वेटनरी डॉक्टर के साथ जिस स्थान पर खौफनाक हादसा पेश आया था, उसी स्थान पर पुलिस ने आरोपियों को ढेर किया. आइए एक नजर डालते हैं कि हैदराबाद के इस हौलनाक घटनाक्रम को जिसने देश-दुनिया को झकझोर कर रख दिया.

  • हैदराबाद-बेंगलुरु हाईवे पर स्थित जिस टोल प्लाजा पर आखिरी बार देखी गई थी. वहां से करीब 30 किमी दूर एक किसान ने गुरुवार सुबह 28 नवंबर को उसका जला हुआ शव देखा.
  • स्कूटी का टायर पंक्चर होने के बाद एक टोल प्लाजा के पास इंतजार कर रही 26 वर्षीय वेटनरी डॉक्टर की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई.
  • बुधवार 27 नवंबर को भी डॉक्टर वेटनरी हॉस्पिटल से टोल प्लाजा पर लौटी और वहां से एक और क्लिनिक पर जाने के लिए रवाना हो गई.
  • रात 9 बजकर 22 मिनट पर डॉक्टर ने अपनी बहन को फोन पर बताया कि उसके टू-व्हीलर का एक टायर पंक्चर है.
  • एक व्यक्ति ने उसे मदद की पेशकश की है. कुछ देर बाद उसने दोबारा फोन कर बताया कि मदद की पेशकश करने वाला व्यक्ति कह रहा है कि आसपास की सभी दुकानें बंद हैं और पंक्चर ठीक करवाने के लिए गाड़ी को कहीं और ले जाना होगा.
  • बाद में रात 9 बजकर 44 मिनट पर डॉक्टर का फोन स्विच ऑफ हो गया.
  • डॉक्टर से बुधवार रात से गुरुवार तड़के तक दुष्कर्म हुआ.
  • बुधवार रात 9.30 बजे से गुरुवार तड़के 4 बजे तक डॉक्टर से दुष्कर्म करते रहे. इसके बाद डॉक्टर की हत्या कर दी.
  • वे लाश को करीब 30 किमी एक पुल के नीचे ले गए. फिर शव को चादर में लपेटा और केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी.
  • इसके बाद दो आरोपी बाइक पर और बाकी लॉरी से लौट आए.
  • साइबराबाद पुलिस ने इस मामले में शुक्रवार 29 नवंबर को चार आरोपियों को गिरफ्तार किया.
  • ये ट्रक ड्राइवर और क्लीनर हैं.
  • इन्होंने शराब पीने के बाद डॉक्टर को सात घंटे तक बंधक बनाए रखा और सामूहिक दुष्कर्म किया. इसके बाद शव को 30 किमी दूर ले जाकर आग लगा दी.
  • वेटरनरी डॉक्टर शादनगर में रहती थी और यहां से करीब 30 किलोमीटर दूर शम्शाबाद में एक वेटनरी हॉस्पिटल में काम करती थी.
  • वह हर दिन हैदराबाद-बेंगलुरु नेशनल हाईवे स्थित तोंडुपल्ली टोल प्लाजा पर अपना टू-व्हीलर पार्क करती थी और वहां से कैब लेकर अस्पताल तक जाती थी.
First Published: Dec 06, 2019 08:41:33 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो