BREAKING NEWS
  • रोहिंग्या शरणार्थियों की वापसी में रोड़ा अटका रहे कुछ एनजीओ, जानें कैसे- Read More »
  • PAK को भारत के साथ कारोबार बंद करना पड़ा भारी, अब इन चीजों के लिए चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम- Read More »
  • मुंबई के होटल ने 2 उबले अंडों के लिए वसूले 1,700 रुपये, जानिए क्या थी खासियत- Read More »

राफेल डील विवाद के बीच सरकार ने सेना के लिए 72,400 असॉल्ट राइफल खरीदने को दी मंजूरी

News State Bureau  |   Updated On : February 12, 2019 09:45 PM
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

केंद्र सरकार ने भारतीय सेना और दो अन्य सुरक्षाबलों के लिए 72,400 अत्याधुनिक असॉल्ट राइफल्स के खरीद को मंजूरी दे दी. रक्षा मंत्रालय अमेरिकी वैश्विक उत्पादक कंपनी सिग सौर से यह खरीद करेगी. रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि आज (मंगलवार) फास्ट ट्रैक प्रक्रिया के तहत 72,400 सिग सोर राइफल्स की खरीद के लिए अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए. इसमें 66,400 राइफल्स भारतीय सेना को मिलेगी, वहीं नौसेना को 2,000 और अन्य 4,000 राइफल्स वायुसेना को दिए जाएंगे.

अमेरिकी कंपनी सिग सौर 7.62 गुणा 51 मिमी की बंदूकों की आपूर्ति करेगी. इनकी इंसास 5.56 गुणा 45 राइफल्स की जगह पर तत्काल जरूरत है. भारतीय थल सेना के जवान इंसास राइफल्स पर प्रमुख रूप से निर्भर हैं.

इसकी खरीद फास्ट ट्रैक प्रोक्यूरमेंट (एफटीपी) के तहत की जा रही है. हालांकि, भारतीय सेना को अकेले करीब 8.16 लाख राइफलों की जरूरत है, लेकिन एफटीपी के तहत सिर्फ सीमित संख्या में खरीदी की जा सकती है.

इंसास राइफलों का बदला जाना कई सालों से लंबित है. इंसास, इंडियन स्माल आर्म्स सिस्टम्स का संक्षिप्त रूप है. इंसास का उत्पादन आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड (ओएफबी) द्वारा होता है. इंसास राइफलों को लेकर जवानों की बहुत सारी शिकायतें हैं.

सभी राइफलों की आपूर्ति एक साल के भीतर की जानी है. नई राइफलों को कॉपैक्ट, मजबूत व नई प्रौद्योगिकी से लैस बताया जा रहा है.

(IANS इनपुट्स के साथ)

First Published: Tuesday, February 12, 2019 08:44:31 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Assault Rifles, India, Us Sig Sauer, Assault Rifles, Indian Army, Army, Sig Sauer Assault Rifles,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

वीडियो