BREAKING NEWS
  • हिंदू धर्म छोड़कर बौद्ध धर्म अपनाएंगी मायावती, बड़ी तादाद में समर्थक भी करेंगे धर्म परिवर्तन- Read More »
  • जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों ने ट्रक ड्राइवर की गोली मार की हत्या, सर्च अभियान जारी- Read More »
  • पाकिस्तान ने भारत को दहलाने की रची बड़ी साजिश, लश्कर समेत 3 बड़े आतंकी संगठन को सौंपा ये काम- Read More »

बालाकोट में पाकिस्तान की सरपरस्ती में फिर सक्रिय हुए आतंकी कैंप, भारत पर निशाना

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : September 22, 2019 09:16:43 AM
पाकिस्तान की सरपरस्ती में बालाकोट में फिर सक्रिय हुए जैश के आतंकी कैंप

पाकिस्तान की सरपरस्ती में बालाकोट में फिर सक्रिय हुए जैश के आतंकी कैंप (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  जैश-ए-मोहम्मद ने बालाकोट स्थित अपने उस आतंकी ठिकाने को फिर से जिंदा कर लिया है.
  •  वैश्विक दबाव और निगाह से बचते हुए 40 जिहादियों को यहां प्रशिक्षण दिया जा रहा है.
  •  न सिर्फ जम्मू-कश्मीर, बल्कि गुजरात और महाराष्ट्र भी आतंकी निशाने पर.

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकाने पर भारतीय वायुसेना की सर्जिकल स्ट्राइक के लगभग सात महीने बाद पाकिस्तान की सरपरस्ती में आतंकी गतिविधियां फिर से शुरू हो गई हैं. आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने बालाकोट स्थित अपने उस आतंकी ठिकाने को फिर से जिंदा कर लिया है. वैश्विक दबाव और निगाह से बचते हुए 40 जिहादियों को यहां प्रशिक्षण दिया जा रहा है. इन आतंकियों को जम्मू-कश्मीर और अन्य जगहों पर आतंकी हमले करने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है.

यह भी पढ़ेंः पोप के बाद पीएम मोदी के लिए जुटेगी सबसे बड़ी भीड़, ह्यूस्टन है जोश में; भव्‍य होगा Howdy Modi

जैश की मदद ले रहा है पाकिस्तान
खुफिया जानकारी के मुताबिक जम्मू-कश्मीर से भारत सरकार द्वारा धारा 370 को हटाए जाने के फैसले के बाद बौखलाया पाकिस्तान भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए जैश का सहारा ले रहा है. पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले के बाद उन आतंकी संगठनों पर लगाए गए प्रतिबंधों में ढील दे दी है, जो भारत को आतंकी हमलों से थर्राना चाहते हैं. संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से पहले पाकिस्तान भारत में आतंकी घटना को अंजाम देने की फिराक में है, ताकि कश्मीर मसले पर एक बार फिर से वह दुनिया का ध्यान भटका सके. बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में पीएम मोदी का भी संबोधन होना है.

यह भी पढ़ेंः ह्यू्स्टन में पाकिस्तान के बलूच, सिंधी और पश्तो समूह का भी जमावड़ा, मोदी-ट्रंप से मांगेंगे मदद

अब्दुल रऊफ असगर रच रहा आतंकी हमलों की साजिश
14 फरवरी को पुलवामा पर आत्मघाती आतंकी हमले के बाद 27 फरवरी को भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानें ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंप पर सर्जिकल स्ट्राइक कर कैंप को तबाह कर दिया था. पुलवामा हमले के बाद भारत-विरोधी आतंकी समूहों को पाकिस्तान सरकार ने लो प्रोफाइल कर दिया था, जिसे 5 अगस्त के बाद जैश के ऑपरेशनल कमांडर मुफ्ती अब्दुल रऊफ असगर ने रावलपिंडी में आईएसआई के अपने हैंडलर्स से मिलने के बाद फिर से सक्रिय कर दिया.

यह भी पढ़ेंः अमेरिका के ह्यूस्टन पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, आज NRG स्टेडियम में गूंजेगा नमो-नमो

आतंकी हमलों के लिए नए नाम का सहारा भी ले सकते हैं आतंकी
हालांकि जम्मू-कश्मीर मसले के बाद ही पाकिस्तान में आतंकी संगठनों की बैठक भी हुई. इंटेलिजेंस इनपुट के मुताबिक जैश-ए-मोहम्मद न सिर्फ जम्मू-कश्मीर, बल्कि गुजरात और महाराष्ट्र को भी निशाना बना सकता है. इसके लिए वह नए नाम का भी सहारा ले सकता है ताकि अंतरराष्ट्रीय जांच से बच सके. पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूहों को कश्मीरी मूल के आतंकवादियों का उपयोग करने के लिए कहा गया है और इस संदर्भ में, मुश्ताक ज़रगर उर्फ ​​लटरम के नेतृत्व वाले अल उमरार मुजाहिदीन जैसे निष्क्रिय समूहों को भी पुनर्जीवित किया जा रहा है.

First Published: Sep 22, 2019 09:16:43 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो