Budget Session: CAA कानून एतिहासिक, पीड़ित शरणार्थियों को मिलेगा उनका हक- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

News State Bureau  |   Updated On : January 31, 2020 01:46:18 PM
Budget Session: CAA कानून एतिहासिक, पीड़ित शरणार्थियों को मिलेगा उनका हक- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

आज से संसद के बजट सत्र की शुरुआत हो रही है. आज संसद में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा. इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित किया. अपने संबोधन की शुरुआत में राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, ये दशक भारत के लिए काफी महत्तवपूर्ण है. नई ऊर्जा के साथ नए भारत का निर्माण होगा. उन्होंने कहा, सरकार बापू का सपना पूरा कर रही है. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या मामले पर फैसला का जिक्र करते हुए कहा, अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद लोगों का रवैया प्रशंसनीय है. इसके अलावा राष्ट्रपति कोविंद ने कई और महत्वपूर्ण बातें कही. आइए जानते हैं क्या रहीं अभिभाषण की प्रमुख बातें-

1. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, मेरी सरकार का स्पष्ट मत है कि पारस्परिक चर्चा-परिचर्चा और वाद-विवाद लोकतंत्र को और सशक्त बनाते हैं। वहीं विरोध के नाम पर किसी भी तरह की हिंसा, समाज और देश को कमजोर करती है.

2. उन्होंने कहा, सरकार द्वारा पिछले पांच वर्षों में जमीनी स्तर पर किए गए सुधारों का ही परिणाम है कि अनेक क्षेत्रों में भारत की अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में अभूतपूर्व सुधार आया है.

3. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, मेरी सरकार, ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मंत्र पर चलते हुए, पूरी निष्ठा और ईमानदारी से काम कर रही है

4. अनुच्छेद 270 पर बात करते हुए उन्होंने कहा, संसद के दोनों सदनों द्वारा दो तिहाई बहुमत से संविधान के अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को हटाया जाना, न सिर्फ ऐतिहासिक है बल्कि इससे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के समान विकास का भी मार्ग प्रशस्त हुआ है.

5.राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जहां मार्च 2018 तक जम्मू-कश्मीर में लगभग 3,500 घर बनाए गए थे, वहीं दो साल से भी कम समय में 24,000 से ज्यादा घरों का निर्माण पूरा किया गया है

यह भी पढ़ें: फांसी टालने में अब नहीं चलेंगे हथकंडे, सुप्रीम कोर्ट तय करेगा दिशा निर्देश

6.सरकार द्वारा पिछले पांच वर्षों में जमीनी स्तर पर किए गए सुधारों का ही परिणाम है कि अनेक क्षेत्रों में भारत की अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग में अभूतपूर्व सुधार आया है- राष्ट्रपति कोविंद

7. मेरी सरकार, ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मंत्र पर चलते हुए, पूरी निष्ठा और ईमानदारी से काम कर रही है - राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

8. संसद के दोनों सदनों द्वारा दो तिहाई बहुमत से संविधान के अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35 ए को हटाया जाना, न सिर्फ ऐतिहासिक है बल्कि इससे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के समान विकास का भी मार्ग प्रशस्त हुआ है - राष्ट्रपति कोविन्द

9. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का तेज विकास, वहां की संस्कृति और परंपराओं की रक्षा, पारदर्शी और ईमानदार प्रशासन और लोकतंत्र का सशक्तीकरण, मेरी सरकार की प्राथमिकताओं में हैं - राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द

10. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जहां मार्च 2018 तक जम्मू-कश्मीर में लगभग 3,500 घर बनाए गए थे, वहीं दो साल से भी कम समय में 24,000 से ज्यादा घरों का निर्माण पूरा किया गया है - राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द

11. जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में कनेक्टिविटी, सिंचाई, अस्पताल, पर्यटन से जुड़ी योजनाओं एवं IIT, IIM, AIIMS जैसे उच्च शिक्षा के संस्थानों की स्थापना का काम भी तेजी से चल रहा है — राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द

यह भी पढ़ें: वित्त मंत्री ने संसद के सामने पेश की आर्थिक तस्वीर, जीडीपी ग्रोथ 6-6.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया

12. अभिभाषण के दौरान राष्ट्रपति कोविंद ने सीएए का जिक्र किया. उन्होंने सीएए कानून को ऐतिहासिक करार दिया और कहा कि इससे पीड़ित शरणार्थियों को उनका हक मिल सकेगा. सीएए के जिक्र के दौरान विपक्ष ने जमकर हंगामा किया. राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, विभाजन के बाद बने माहौल में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि- 'पाकिस्तान के हिंदू और सिख, जो वहां नहीं रहना चाहते, वे भारत आ सकते हैं। उन्हें सामान्य जीवन मुहैया कराना भारत सरकार का कर्तव्य है.' पूज्य बापू के इस विचार का समर्थन करते हुए, समय-समय पर अनेक राष्ट्रीय नेताओं और राजनीतिक दलों ने भी इसे आगे बढ़ाया. हमारे राष्ट्र निर्माताओं की उस इच्छा का सम्मान करना, हमारा दायित्व है. मुझे खुशी है कि संसद के दोनों सदनों द्वारा नागरिकता संशोधन कानून बनाकर, राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की इच्छा को पूरा किया गया है.

13. सरकार के प्रयासों की वजह से वर्ष 2022 तक सिक्किम, मिजोरम, मणिपुर और नागालैंड की राजधानियां रेल नेटवर्क से जुड़ जाएंगी - राष्ट्रपति कोविन्द

14. देश के गरीब किसानों के खातों में पैसे आए है, 6 करोड़ किसानों के खातों में 12 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए गए हैं. इलाज का खर्च कम होने से लाखों लोगों को फायदा पहुंचा है. 75 लाख लोगों ने फ्री इलाज कराया है. बागवानी और पशु स्वास्थ्य पर भी मेरी सरकार का विशेष ध्यान है. महिला स्वास्थ्य पर मेरी सरकार का विशेष ध्यान है. महिलाओं के स्वास्थ्य को लेकर मेरी सरकार सबसे ज्यादा संवेदनशील है- राष्ट्रपति कोविंद

15. मुझे संतोष है कि सरकार द्वारा शुरू किए गए नमामि गंगे मिशन के सकारात्मक परिणाम भी दिखाई देने लगे हैं. इस मिशन के तहत 7 हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स पर काम पूरा हो चुका है और 21 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट्स पर कार्य प्रगति पर है - राष्ट्रपति कोविन्द

16. शहरों में बेहतरीन पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लक्ष्य की तरफ तेज़ी से काम चल रहा है. मेट्रो सुविधा का विस्तार देश के 18 शहरों में हो चुका है. अभी तक 670 किलोमीटर मेट्रो लाइन चालू हो चुकी हैं और 930 किलोमीटर मेट्रो लाइनों पर काम चल रहा है - राष्ट्रपति कोविन्द

17. Insolvency and Bankruptcy Code की वजह से बैंकों और अन्य संस्थानों के करीब साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए वापस भी आए हैं. कॉरपोरेट टैक्स में की गई कटौती और लेबर कोड से जुड़े कानून के बनने से भारत में कारोबार और आसान होगा - राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द

18. One Nation, One Tax यानि GST ने भी टेक्नोलॉजी के माध्यम से देश में पारदर्शी व्यापार को बढ़ावा दिया है. जब GST नहीं था तो दो दर्जन से ज्यादा अलग-अलग टैक्स देने होते थे. अब टैक्स का जाल तो समाप्त हुआ ही है, टैक्स भी कम हुआ है - राष्ट्रपति कोविन्द

First Published: Jan 31, 2020 01:07:08 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो