इंडियन आर्मी की Surgical Strike से POK में आतंकी कैंप तबाह, देखें Video और तस्वीरें

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 20, 2019 11:12:24 PM
पीओके में मिनी सर्जिकल स्ट्राइक

पीओके में मिनी सर्जिकल स्ट्राइक (Photo Credit : (न्यूज स्टेट) )

नई दिल्ली:  

भारत (India) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के तंगधार सेक्टर में दो भारतीय जवानों की शहादत का बदला ले लिया है. भारतीय सेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में मौजूद लश्कर के कैंपों को तबाह कर दिया. थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Gen Bipin Rawat) ने बताया कि इंडियन आर्मी ने 6 से 10 पाकिस्तानी सैनिकों और लगभग इतनी ही संख्या में आतंकियों को मार गिराया है. भारतीय सेना के इस पराक्रम की तस्वीरें और वीडियो सामने आई हैं.

यह भी पढ़ेंः कमलेश तिवारी के बाद इस हिन्दू नेता को मिला धमकी भरा पत्र, लिखा- अब तुम्हारा नंबर है

इंडियन आर्मी की इस कार्रवाई में आतंकी ठिकानों को भारी नुकसान पहुंचा है. इस कार्रवाई में पीओके में पाकिस्तान के तीन बड़े आतंकी ठिकाने तबाह हो गए. तीनों लॉन्चपैड पर आतंकियों की मौजूदगी की पुख्ता खबर मिलने के बाद बीती रात भारतीय सेना ने मिनी सर्जिकल स्ट्राइक की. जिन ठिकानों को भारतीय फौज ने निशाना बनाया वो पाकिस्तान अधिकृत पीओके में पड़ता है.

बता दें कि बिपिन रावत ने बताया कि शनिवार की रात जम्मू-कश्मीर के तंगधार में आतंकवादी घुसपैठ की कोशिश करते दिखाई दिए. हमने उन पर जवाबी कार्रवाई की. पाक ने हमारे पोस्ट पर हमला किया, जिसमें हमें नुकसान हुआ. लेकिन इससे पहले कि वे घुसपैठ की कोशिश कर सकें. हमने उनकी कोशिश को नाकाम कर दिया.

पीओके के जिन ठिकानों पर कार्रवाई हुई उनमें जूरा, अथमुकाम और कुंडलसाही शामिल हैं. तीनों ही ठिकाने पीओके की नीलम वैली में हैं. ये भारत के तंगधार के सामने पाक अधिकृत कश्मीर में हैं. तीनों ही ठिकाने नियंत्रण रेखा (एलओसी) से 10 से 15 किलोमीटर दूर हैं. पुलवामा हमले के बाद भारत की जवाबी कार्रवाई की आशंका को देखते हुए एलओसी के पास बने कई आतंकी कैंप पाकिस्तानी सेना के बेस में शिफ्ट कर दिए गए. आतंकी इन्हीं कैंप में रहते हैं और पाकिस्तान सेना की कवर फायरिंग की मदद से भारतीय सीमा में दाखिल होने की कोशिश करते हैं. भारतीय सेना को इन तीनों ठिकानों के बारे में बेहद पुख्ता जानकारी मिली थी.

यह भी पढ़ेंः कमलेश तिवारी की इस चाकू से की गई थी हत्या!, पुलिस को इस हाल में मिला हथियार

जानकारी के मुताबिक, जूरा, अथमुकाम और कुंडलसाही में कई आतंकी लॉन्च पैड बनाए गए हैं. हर लॉन्च पैड पर 30 से 40 आतंकवादी मौजूद थे. इन आतंकियों को पाकिस्तानी सेना के बंकरों और सैनिकों से सुरक्षा और मदद मिल रही थी. भारतीय सेना ने इन्हीं लॉन्च पैड्स को निशाना बनाया. जनरल रावत ने कहा, 'आतंकवादी शिविरों को निशाना बनाना है ये पहले से तय था. हमारे पास आतंकवादी इन शिविरों के निर्देशांक थे. हमने आतंकवादियों के बुनियादी ढांचे को गंभीर नुकसान पहुंचाया है. उन्होंने बताया कि भारत की ओर से की गई कार्रवाई में पाकिस्तान के 6-10 सैनिक मारे गए हैं. 3 आतंकवादी कैंपों को नष्ट किया गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय सेना ने कुछ ही मिनटों में आतंकी ठिकानों की पहचान कर कार्रवाई शुरू कर दी. टेरर लॉन्च पैड के अलावा पाकिस्तानी आर्मी की पोस्ट जो आतंकियों की मदद कर रही थी, भारतीय सेना ने उनकी भी पहचान की. इस ऑपरेशन में टेरर कैंप और पाकिस्तानी आर्मी के पोस्ट को निशाना बनाया गया. तस्वीरों से साफ है कि पाकिस्तान की तरफ बड़े स्तर पर नुकसान पहुंचा है. लगभग 10 घंटे दोनों तरफ से फायरिंग हुई. भारतीय सेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया और आतंकी कैंपों को निशाना बनाया गया.

First Published: Oct 20, 2019 11:12:24 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो