पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ बोले, पाकिस्तान के हित में देशभक्त हाफ़िज के साथ गठबंधन को तैयार

  |   Updated On : December 17, 2017 01:06 PM
परवेज मुशर्रफ, पूर्व राष्ट्रपति, पाकिस्तान (एएनआई)

परवेज मुशर्रफ, पूर्व राष्ट्रपति, पाकिस्तान (एएनआई)

ख़ास बातें
  •  पाकिस्तान के हित के लिए लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) और जमात-उद-दावा (जेडीयू) के साथ गठबंधन को तैयार
  •  मुशर्रफ ने एक महीने पहले भी कहा था कि वो एलईटी और जेडीयू के समर्थक हैं
  •  लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा दोनो पार्टी में से किसी ने मुशर्रफ से संपर्क नहीं किया है

 

नई दिल्ली:  

पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने कहा है कि वो पाकिस्तान के हित के लिए लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) और जमात-उद-दावा (जेडीयू) के साथ गठबंधन को तैयार है।

मुशर्रफ ने एक महीने पहले भी कहा था कि वो एलईटी और जेडीयू के समर्थक हैं।

शनिवार को मुशरर्फ ने ARY टीवी को दिए इंटरव्यू में कहा, 'एलईटी और जेडीयू देशभक्त लोग हैं। उन्होंने अपनी ज़िदगी पाकिस्तान के लिए समर्पित की है। अगर वो राजनीतिक पार्टी बनाते हैं तो उनका विरोध कौन करेगा।'

हालांकि उन्होंने ये भी साफ़ कर दिया है कि अब तक लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा दोनो पार्टी में से किसी ने इनसे संपर्क नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि अगर ये दोनो पार्टी अगर उनके साथ गठबंधन का इरादा रखते हैं तो उन्हें कोई आपत्ति नहीं है।

आगे उन्होंने कहा, ‘मैं उदार और नरम विचारधारा का आदमी हूं लेकिन इसका मतलब ये कतई नहीं है कि मैं धार्मिक तत्व से घृणा करूं। मैं लश्कर-ए-तैयबा का सबसे बड़ा समर्थक हूं और मुझे पता है कि लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा के लोग भी मुझे पसंद करते हैं।‘   

कुछ दिनों पहले भी पूर्व राष्ट्रपति ने खुद को आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) का 'सबसे बड़ा समर्थक' घोषित किया था।

जाधव की पत्नी और मां केे वीजा को पाकिस्तान सरकार ने किया मंजूर

परवेज मुशर्रफ ने कहा कि वह आतंकवादी संगठन जमात-उद-दावा व इसके प्रमुख हाफिज सईद के साथ एक राजनीतिक गठजोड़ बनाने के लिए तैयार है। जमात-उद-दावा, लश्कर से ही संबद्ध संगठन है।

मुशर्रफ ने आज न्यूज से साक्षात्कार में कहा, ‘अगर यह होना चाहिए तो यह जरूर होगा।‘

हाल ही में अपने 23 पार्टियों के 'महागठबंधन' घोषणा का जिक्र करते हुए पाकिस्तान के पूर्व सेना प्रमुख ने कहा, ‘अभी कोई बातचीत नहीं हुई है, लेकिन यदि वे गठबंधन में शामिल होना चाहते हैं तो मैं उनका स्वागत करूंगा।‘

मुशर्रफ ने पहले कहा था, ‘मैं एलईटी का सबसे बड़ा समर्थक हूं और मैं जानता हूं कि वे मुझे पसंद करते हैं और जेयूडी भी मुझे पसंद करता है।‘

पाकिस्तान ने 43 भारतीय मछुआरों को किया गिरफ्तार, नाव किया जब्त

उन्होंने सईद को पसंद करने की भी बात भी कही थी जिसे 2008 के मुंबई आतंकी हमले का जिम्मेदार माना जाता है।

प्रतिबंधित आतंकी समूहों के पक्ष में दिए बयान से देश के बारे में संभावित अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रियाओं के बारे में पूछे जाने पर मुशर्रफ ने कहा, ‘यह हमारा देश है। हम देश के आतंरिक हालात व यहां रह रहे लोगों से वाकिफ हैं, जानते हैं कि वे अच्छे हैं या बुरे।‘

उन्होंने कहा, ‘मैंने हाफिज सईद के बारे में बात की और मैं यह गर्व से कहूंगा कि एलईटी व जेयूडी, दोनों पाकिस्तान के लिए बहुत अच्छे संगठन हैं।‘

उन्होंने कहा, ‘साल 2005 में मैंने देखा कि वे बेहतरीन इंजीनियर हैं। उन्होंने इस्लामाबाद में भूकंप के समय बेहतरीन कार्य किया। वे अल कायदा या तालिबान के पक्ष में नहीं हैं। हम उन्हें दीवार की तरफ क्यों धकेल रहे हैं?’

मुशर्रफ ने कहा, ‘वे आतंकवादी नहीं हैं और हमें यह अमेरिका व दुनिया से कहना चाहिए।‘

मुशर्रफ की यह टिप्पणी 24 नवंबर को सईद पर से नजरबंदी के हटने के बाद आई। सईद की आतंकवादी गतिविधियों के लिए अमेरिका ने उसके सिर पर एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा हुआ है।

ओबामा राज में H-1B वीजा में मिली छूट को ख़त्म करेगा ट्रंप प्रशासन

RELATED TAG: Former Pakistan President, General Pervez Musharraf, Lashkar E Taiba, Let, Jamaat Ud Dawa, Jud, Islamabad,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो