Breaking
  • SC में पद्मावती विवाद, आपत्तिजनक हिस्से को हटाने और भंसाली के खिलाफ कार्रवाई पर सुनवाई आज (पढ़ें ख़ -Read More »
  • गुजरात चुनाव: कांग्रेस की लिस्ट से भड़के पाटीदार, समझौते पर उठने लगे सवाल -Read More »

मुलायम सिंह ने अपने भाई राम गोपाल यादव पर लगाया आरोप, कहा- वह अलग पार्टी बना रहे हैं

  |  Updated On : January 11, 2017 05:10 PM
पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुलायम, साथ में शिवपाल भी मौजूद

पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मुलायम, साथ में शिवपाल भी मौजूद

ख़ास बातें
  •  मुलायम ने राम गोपाल पर लगाये आरोप, कहा वह अलग पार्टी बना रहे हैं 
  •  मुलायम बोले, मैंने अखिलेश से कहा कि तुम राम गोपाल के चक्कर में क्यों हो
  •  मुलायम सिंह यादव ने कहा, सपा की एकता में कोई रुकावट नहीं बन सकता

नई दिल्ली:  

समाजवादी पार्टी (सपा) में पिता-पुत्र की लड़ाई जारी है। इस बीच लखनऊ में सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हम नहीं चाहते हैं कि पार्टी टूटे। उन्होंने अपने भाई और अखिलेश गुट के राम गोपाल यादव पर आरोप लगाये।

मुलायम सिंह यादव ने कहा, 'पार्टी तोड़ रहे हैं रामगोपाल। अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी नाम रख रहे हैं। मैंने अखिलेश से कहा कि वह राम गोपाल के चक्कर में क्यों पड़े हैं।'

पार्टी कार्यकर्ताओं और मीडिया से बातचीत के दौरान मुलायम के साथ शिवपाल यादव भी मौजूद थे। 

उन्होंने साफ तौर पर कहा कि पार्टी का चिन्ह और नाम नहीं बदलेगा। लखनऊ में मुलायम ने कहा, 'पार्टी का नाम और चुनाव चिन्ह नहीं बदलेगा।' खबर है कि मुलायम सिंह यादव बुधवार शाम तक दिल्ली आएंगे।

पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने से पहले मुलायम सिंह यादव ने अपने बेटे अखिलेश यादव से फोन पर बात की थी। सूत्रों के मुताबकि इस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने पिता से कहा, 'उन्हें (अखिलेश) सिर्फ 3 महीने के लिए पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहने दिया जाय, जो मेरे और पार्टी के भविष्य के लिए बेहतर होगा।'

हालांकि अब भी एक बड़ा सवाल बना हुआ है कि विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी एक रहेगी या दोनों गुट अलग-अलग चुनाव लड़ेंगे।

मुलायम सिंह यादव अखिलेश के प्रति नरमी बरत रहे हैं। लेकिन मंगलवार शाम को अखिलेश यादव खेमे ने 3 एमएलसी उमीदवारों का नाम जारी किया था। जिसके बाद विवाद बढ़ने की आशंका है। अखिलेश की ओर से जारी प्रेस नोट में अखिलेश यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष तो वहीं, नरेश उत्तम को प्रदेश अध्यक्ष बताया गया है।

जबकि दिन में मुलायम सिंह यादव के साथ बैठक में इस बात पर सहमति बनी थी की अखिलेश आगामी विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार रहेंगे। इससे पहले सोमवार को मुलायम सिंह यादव ने कहा था कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद अखिलेश यादव ही प्रदेश के मुख्यमंत्री होंगे। 

और पढ़ें: 'साइकिल को मिलेगा हाथ का सहारा', राहुल गांधी और अखिलेश यादव के बीच हो सकती है मुलाकात

लाइव अपडेट्स:

मैंने अखिलेश से कहा कि तुम राम गोपाल के चक्कर में क्यों हो?

पार्टी का नाम और चुनाव चिन्ह नहीं बदलेगा

राम गोपाल यादव अलग पार्टी बना रहे हैं

मेरे पास कुछ नहीं बचा है, अब सिर्फ आप लोग हैं

पार्टी में दावेदारी का विवाद चल रहा है

समाजवादी पार्टी की एकता में कोई रुकावट नहीं बन सकता

हमने आपातकाल झेला

पार्टी के लिए लाठियां खायी है

मुलायम सिंह यादव बोले, हम नहीं चाहते पार्टी टूटे

हमने गरीबी में परिवार छोड़ा

पार्टी की एकता के लिए पूरा समय दिया

प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे हैं मुलायम सिंह यादव

थोड़ी देर में प्रेस कांफ्रेंस करेंगे मुलायम सिंह यादव

समाजवादी पार्टी में चुनाव चिन्ह साइकिल को लेकर दोनों गुट चुनाव आयोग पहुंच चुके हैं। चुनाव आयोग अपना फैसला 13 जनवरी को दे सकता है।

RELATED TAG: Mulayam Singh, Samajwadi Party, Akhilesh Yadav,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो