गूगल ने डूडल बनाकर सबसे पुराने कंप्यूटर की खोज का मनाया जश्न

By   |  Updated On : May 17, 2017 04:50 PM
गूगल ने बनाया एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म का डूडल

गूगल ने बनाया एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म का डूडल

नई दिल्ली:  

गूगल ने बुधवार को डूडल बनाकर एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म की खोज को 115 साल पूरे होने का जश्न मनाया है। एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म दुनिया का पहला कंप्यूटर माना जाता है। ग्रीक पुरातत्ववेता वेलेरियोस स्टेस ने 1902 में आज के ही दिन (17 मई) एंटकाइथेरा में एक डूबे जहाज की पड़ताल के दौरान एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म (यंत्र) को बरामद किया।

स्टेस पहले ऐसे शख्स थे जिनकी नजर कांस्य की इस मैकेनिज्म पर पड़ी। इसका आकार किसी चक्के के जैसा था।

धातु का यह टुकड़ा एंटीकाइथेरा मैकैनिज्म का हिस्सा था, जो एक प्रकार से प्राचीन समय का कंप्यूटर था। इसका इस्तेमाल ग्रहों की स्थिति का पता लगाने, चंद्र और सूर्य ग्रहण की भविष्यवाणी करने और यहां तक कि आगामी ओलंपिक खेलों के आयोजन की तारीख तय करने में भी होता था।

और पढ़ें: नोकिया 3310 फिर से धूम मचाने के लिए भारत में हुआ लॉन्च, जानिए क्या है इसके खास फीचर्स

गूगल ने इस बारे में कहा, 'आज का डूडल दिखाता है कैसे एक जंग लगा टुकड़ा असीम ज्ञान और प्रेरणा के दरवाजे खोल सकता है।'

गूगल के अनुसार, 'इसका इस्तेमाल शायद नक्शा बनाने नौपरिवहन में भी किया जाता था। इसमें आगे बने डायल का इस्तेमाल राशि और सौर कैलेंडरों को जोड़ने में होता था, जबकि पीछे डायल का इस्तेमाल खगोलीय स्थिति (ग्रहों की चाल) का पता लगाने में किया जाता था।'

और पढ़ें: Galaxy Note 7R जल्द हो सकता है लॉन्च, कम कीमत में होगा उपलब्ध

इसका जब 3डी टोमोग्राफी कंप्यूटर मॉडल के आधार पर परीक्षण किया गया तो पता चला कि इसमें 30 से अधिक उन्नत किस्म के गियर थे। लकड़ी और कांसे के बक्से में रखा यह मैकेनिज्म एक जूते के डिब्बे के बराबर का था।

नोकिया 3310 फिर से धूम मचाने के लिए भारत में हुआ लॉन्च, जानिए क्या है इसके खास फीचर्स
 
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो