Breaking
  • जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने नाबालिग आरोपी की जमानत अर्जी को खारिज किया
  • कांग्रेस को झटका, गुजरात चुनाव की काउंटिंग में SC का दखल से इंकार
  • राज्यसभा दिन भर के लिए स्थगित
  • क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे के पिता हिरासत में, कार से महिला को कुचलने का लगा आरोप
  • तीन तलाक: सूत्रों के हवाले से खबर, मोदी कैबिनेट ने बिल पर लगाई मुहर
  • माइक्रोवेव ओवन इंपोर्ट पर कस्टम ड्यूटी 10 प्रतिशत से बढ़कर 20 फीसदी हुई
  • हिमाचल में कांग्रेस का सफाया, गुजरात में फिर BJP सरकार: एग्जिट पोल -Read More »
  • इन मुद्दों पर सरकार को घेरेगा विपक्ष, आक्रामक रहेगी कांग्रेस

कड़वी हवा मूवी रिव्यू: संजय मिश्रा की दमदार एक्टिंग, झकझोर देगी ये फिल्म

  |  Updated On : November 24, 2017 01:02 PM
'कड़वी हवा' मूवी शुक्रवार को रिलीज हो गई है (फाइल फोटो)

'कड़वी हवा' मूवी शुक्रवार को रिलीज हो गई है (फाइल फोटो)

रेटिंग
स्टार कास्ट
संजय मिश्रा, रणवीर शौरी, भूपेश सिंह और तिलोत्मा सोम
डायरेक्टर
नीला माधव पांड
प्रोड्यूसर
जॉनर
सोशल ड्रामा

मुंबई:  

संजय मिश्रा और रणवीर शौरी की फिल्म 'कड़वी हवा' 24 जनवरी को रिलीज हो गई। नीला माधव पांडा निर्देशित इस मूवी में जलवायु परिवर्तन (क्लाइमेट चेंज) जैसे मुद्दे उठाने की कोशिश की गई है।

ये है फिल्म की कहानी

यह कहानी एक ऐसे गांव की है, जहां हवा का रुख हमेशा एक जैसा रहता है। फिर चाहे सर्दी हो या फिर गर्मी। यहां नेत्रहीन बुजुर्ग हेदू (संजय मिश्रा) बेटे मुकुंद (भूपेश सिंह), बहू पार्वती (तिलोत्मा सोम) और दो छोटी पोतियों के साथ रहते हैं। यह गांव पूरी तरह से बंजर है और गांव के किसान कर्ज लेकर खेती करते हैं, लेकिन फसल बर्बाद होने के कारण कई किसान अपनी जान भी दे देते हैं।

गुनू (रणवीर शौरी) जो उड़ीसा से विस्थापित होकर बुंदेलखंड स्थित इस गांव में आता है, उसे किसानों से कर्ज वसूली का काम सौंपा जाता है। इस दौरान उसकी मुलाकात हेदू से होती है और फिर आते हैं फिल्म में कई ट्विस्ट।

ये भी पढ़ें: B'day: सलीम खान को बनना था एक्टर, कभी मिलती थी 400 रुपये सैलरी 

एक्टिंग

सबसे शानदार अभिनय संजय मिश्रा ने किया है। एक नेत्रहीन शख्स कैसा महसूस करता है, उन्होंने बखूबी इसे दर्शाया है। रणवीर शौरी, भूपेश सिंह और तिलोत्मा सोम ने भी जबरदस्त काम किया है।

डायरेक्शन

डायरेक्टर नीला माधव पांडा ने ऐसे फ्रेम बनाए हैं, जो कहानी से पूरी तरह रिलेट करते हैं और बिल्कुल भी बनावटी नहीं लगते हैं। इनकी एक खासियत यह है कि वह फिल्मों के लिए रियल लोकेशंस को प्राथमिकता देते हैं। कुल मिलाकर लोकेशंस और कैमरा वर्क दोनों कमाल का है।

म्यूजिक

फिल्म का संगीत ठीक-ठाक है। खास बात है, अंत में गुलजार साहब के दिल को छू लेने वाले शब्द। इसके अलावा बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है, जो कहानी के साथ-साथ चलता है।

ये भी पढ़ें: हिना खान ने खोला ऐसा राज, सुनकर हैरान हो जाएंगे

RELATED TAG: Kadvi Hawa, Sanjay Mishra, Ranvir Shorey,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो