Breaking
  • सुप्रीम कोर्ट ने IC 814 कंधार हाईजेक केस में दोषी अब्दुल मोमीन की जमानत याचिका की खारिज
  • SC ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के सेक्शन 45 को असंवैधानिक करार दिया
  • पद्मावती को ब्रिटिश सेंसर बोर्ड से मिली मंजूरी, 1 दिसंबर को होगी रिलीज, पढ़ें खबर -Read More »
  • SC में पद्मावती पर नई याचिका दायर, फिल्म को देश के बाहर रिलीज करने पर रोक की मांग
  • त्रिपुरा: पत्रकार हत्या के विरोध में अखबारों ने संपादकीय छोड़ा खाली, पढ़ें खबर -Read More »
  • CM योगी के बयान पर NHRC ने जारी किया नोटिस, मांगा जवाब, पढ़ें खबर -Read More »
  • फॉग और तकनीकी कारणों से 17 ट्रेन देरी से चल रही है, 1 ट्रेन रद्द और 6 के समय में बदलाव

मार्शल ऑफ एयरफोर्स अर्जन सिंह का दिल का दौरा पड़ने से निधन, पीएम मोदी और राष्ट्रपति ने जताया दुख

  |  Updated On : September 16, 2017 09:42 PM
ख़ास बातें
  •  दिल का दौरा पड़ने से वायुसेना र्माशल अर्जन सिंह का निधन
  •  1964 में सिंह को वायुसेनाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था
  •  सिंह को पहला और एकमात्र 5 स्टार रैंक ऑफिसर बनाया गया

नई दिल्ली:  

भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के मार्शल अर्जन सिंह का शनिवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। इससे पहले शनिवार सुबह को उन्हें दिल्ली के सेना अस्पताल (आरएंडआर) में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया था जहां उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और एयरफोर्स प्रमुख बीएस धनोवा ने अस्पताल के गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) का दौरा किया था और उनसे मुलाकात की थी।

सिंह के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पुरानी तस्वीरें साझा करते हुए दुख प्रकट किया। पीएम ने ट्वीट कर कहा, 'मार्शल ऑफ एयरफोर्स अर्जन सिंह के दुखद निधन से पूरा भारत दुखी है। हम उनके श्रवश्रेष्ठ कार्यों के लिए हमेशा याद रखेंगे।' 

पीएम ने 1965 भारत-पाकिस्तान युद्ध को याद करते हुए कहा, 'भारत उनके अद्वितीय नेतृत्व क्षमता को हमेशा याद करेगा।'

और पढ़ें: अर्जन सिंह, एक ऐसा पायलट जिसने सिर्फ 1 घंटे में छुड़ा दिए पाक के छक्के

अर्जन सिंह (98) को 1 अगस्त 1964 को वायुसेनाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था। वह पहले वायुसेना प्रमुख थे जिन्हें पायलट रहते हुए सीएएस (चीफ ऑफ एयर स्टाफ) नियुक्त किया गया था। 1965 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

1965 में अर्जन सिंह पद्म विभूषण मिला था (फोटो-ANI)

1965 में अर्जन सिंह पद्म विभूषण मिला था (फोटो-ANI)

उन्होंने युद्ध के समय भारतीय वायु सेना का सफल नेतृत्व कर अपने प्रयास को दिखाया। 1969 में भारतीय वायु सेना से सेवानिवृत्ति पर, उन्हें स्विट्जरलैंड में भारतीय राजदूत नियुक्त किया गया था।

अर्जन सिंह (फाइल फोटो)

अर्जन सिंह (फाइल फोटो)

अर्जन सिंह की सेवाओं के सम्मान में, भारतीय वायु सेना ने उन्हें जनवरी 2002 में वायु सेना के मार्शल रैंक से सम्मानित किया और उन्हें पहला और एकमात्र 5 स्टार रैंक ऑफिसर बनाया गया।

RELATED TAG: Indian Air Force, Marshal, Arjan Singh, Pm Modi, Army,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो