Breaking
  • उन्नाव रेप केस: आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर 3 दिन की सीबीआई हिरासत में
  • LIVE RR Vs KKR : एलिमिनेटर में राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स आमने-सामने -Read More »
  • कुमारस्वामी ने ली सीएम पद की शपथ, विपक्ष का शक्ति प्रदर्शन -Read More »
  • SSC पेपर लीक मामला: सीबीआई ने दर्ज़ किया एफआईआर, देश के 12 अलग-अलग जगहों पर चल रहा है सर्च ऑपरेशन
  • एबी डिविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास
  • कांग्रेस के जी परमेश्वर ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री के तौर पर ली शपथ
  • कर्नाटक: एच डी कुमारस्वामी ने ली सीएम पद की शपथ, सोनिया-राहुल भी मौजूद
  • दिल्ली: तैमूर नगर के एक ईमारत में लगी आग, 22 दमकल गाड़ियां मौक़े पर
  • भारतीय वायुसेना का चीता हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश, कोई हताहत नहीं
  • दिल्ली: मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने पर कांग्रेस ने जारी किया पोस्टर, लिखा- 'विश्वासघात'
  • जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग के बिजबेहरा में ग्रेनेड अटैक, 6 लोग घायल
  • जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी गोलीबारी में मंगलवार रात से अब तक चार लोगों की मौत
  • तमिलनाडु: मद्रास हाई कोर्ट ने स्टरलाइट कंपनी के कॉपर स्मेलटर निर्माण पर लगाई रोक
  • गृह मंत्रालय ने तूतिकोरिन घटना को लेकर तमिलनाडु सरकार से मांगी रिपोर्ट
  • जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान की भारी गोलीबारी से कठुआ में एक की मौत, दो घायल
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण समारोह शुरू

भारत ने चीन के प्रस्ताव को ठुकराया, कहा- कश्मीर द्विपक्षीय मुद्दा

  |   Updated On : July 14, 2017 12:15 AM
श्रीनगर में सुरक्षाबल (फोटो-PTI)

श्रीनगर में सुरक्षाबल (फोटो-PTI)

ख़ास बातें
  •  भारत ने कहा, कश्मीर पर किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता हमें स्वीकार नहीं
  •  भारत ने कहा कि हम कश्मीर मुद्दे पर द्विपक्षीय रुपरेखा के तहत पाकिस्तान के साथ बातचीत को तैयार हैं
  •  चीन ने कहा था, वह भारत-पाकिस्तान के रिश्तों को सुधारने के लिए 'रचनात्मक भूमिका' निभाने का इच्छुक है

नई दिल्ली:  

भारत ने कश्मीर पर चीन के प्रस्ताव को ठुकराते हुए कहा कि यह द्विपक्षीय मुद्दा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि भारत का रुख हमेशा से साफ है। 

बागले ने कहा, 'हम पाकिस्तान के साथ कश्मीर पर बात करने के लिए तैयार हैं, लेकिन किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता हमें स्वीकार नहीं है।'

उन्होंने कहा, 'हमारा पक्ष बिल्कुल स्पष्ट है। आप जानते ही हैं कि इस विवाद का मुख्य मुद्दा एक खास देश द्वारा सीमा-पार आतकंवाद को बढ़ावा दिया जाना है, जिसकी वजह से देश, क्षेत्र और पूरी दुनिया को खतरा है।'

बागले ने कहा, 'हम कश्मीर मुद्दे पर द्विपक्षीय रुपरेखा के तहत पाकिस्तान के साथ बातचीत को तैयार हैं।'

आपको बता दें की चीन ने बुधवार को कहा था कि वह, भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को सुधारने के लिए 'रचनात्मक भूमिका' निभाने का इच्छुक है। कश्मीर के हालात ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का काफी ध्यान खींचा है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा था, 'नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास संघर्ष से न सिर्फ दोनों देशों की शांति व स्थिरता को, बल्कि क्षेत्र की शांति व स्थिरता को भी नुकसान होगा।'

उन्होंने कहा था, 'हम आशा करते हैं कि संबंधित पक्ष कश्मीर में शांति व स्थिरता के लिए अधिक कार्य कर सकते हैं और तनाव बढ़ाने से बच सकते हैं। चीन, भारत और पाकिस्तान के रिश्तों को सुधारने के लिए 'रचनात्मक भूमिका' निभाने का इच्छुक है।'

वहीं भारत ने साफ कर दिया है कि कश्मीर सिर्फ द्विपक्षीय मुद्दा है। गोपाल बागले ने कहा, 'मूल मुद्दा ये है कि सीमा पार से आतंकवाद भारत पर थोपा गया है जिसमें जम्मू-कश्मीर भी शामिल है।'

और पढ़ें: भारत-चीन सीमा विवाद पर सरकार ने बुलाई सभी दलों की बैठक

RELATED TAG: Kashmir China, Kashmir Bilateral Issue, India Pakistan, China,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो