Live: गोरखपुर हादसे पर मीडिया को योगी की नसीहत, कहा-आंकड़ों से नहीं करे खिलवाड़

By   |  Updated On : August 12, 2017 09:49 PM
योगी आदित्यनाथ (पीटीआई)

योगी आदित्यनाथ (पीटीआई)

ख़ास बातें
  •  योगी आदित्यनाथ ने मजिस्ट्रेट जांच के दिए हैं आदेश
  •  आईसीयू में ऑक्सिजन की कमी से 30 से ज्यादा बच्चों की जा चुकी है जान
  •  यूपी सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और आशुतोष टंडन करेंगे अस्पताल का दौरा

नई दिल्ली:  

गोरखपुर के बीआरडी (बाबा राघव दास) हॉस्पिटल में मरने वालों की संख्या बढ़कर 33 पर पहुंच गई है। 

अस्पताल द्वारा जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले पांच दिनों में अब तक 63 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे पहले इसी अस्पताल में कथित तौर पर ऑक्सीजन की कमी के कारण बच्चों समेत 33 लोगों की मौत हो चुकी है।

शनिवार शाम योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में जानकारी देते हुए कहा कि बीआरडी की घटना मीडिया में छाई हुई है। धन्यवाद संवेदनशील मुद्दे की तरफ आपने ध्यान आकर्षित किया है। इन्सेफेलाइटिस की लड़ाई मैनें शुरू की है।

मीडिया रिपोर्ट्स से पीएम चिंतित है। उन्होंने कहा है कि भारत सरकार इस पर हमारी भरसक मदद करेंगे। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री नड्डा जी और अनुप्रिया पटेल जी को यहां भेजा है। भारत सरकार के स्वास्थ्य सचिव और हमारे अधिकारी मौके पर है। 

आपसे निवेदन है कि तथ्यों को सही तरह से रखा जाए। 

7 अगस्त को 9 मौतें हुई है, 8 को 7 मौतें हुई है। 9 अगस्त को 9 मौतें हुई है। 10 को 23 मौतें, 11 को 11 मौतें हुई है। मौत के कारण क्या है ये पता लगाने के लिए मांत्रियों को भेजा गया है।

मौत की वजह ऑक्सिजन की कमी से हुई है? मौत के आंकड़े क्या है? पूरी जांच और तथ्य इकाट्ठा किया जा रहा है। गोरखपुर के डीएम को भेजकर मजिस्ट्रेट जांच के लिए कहा है। ऑक्सिजन सप्लाई बाधित हुई तो उनके कारण क्या रहे। विकास के काम मे बाधा न आये ये सरकार बनने के समय ही हम स्पष्ट कर चुके है।

वहीं राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि बीआरडी की घटना से हम सभी दुखी है। पीएम ने मुझे इस मामले में जानकारी लेने के लिए भेजा है। मीडिया रिपोर्ट्स में जो कुछ भी दिखाया जा रहा है पीएम उससे बहुत दुखी हैं। हमने शनिवार शाम आपात बैठक बुलाई थी जिसमे हमने सीएम और स्वास्थ्य मंत्री के साथ इस घटना पर मंथन किया है। इससे पहले मेरे मंत्रालय ने यूपी सरकार से इस बारे में जानकारी लेने के लिए संपर्क किया था। भारत सरकार पूर्ण सहयोग के लिए तैयार है। सरकार दोषी को निर्ममता और कठोरता के साथ दंड देगी। 

Live अपडेट

#मीडिया में अलग-अलग आंकड़े रखे जा रहे हैं। उनसे आग्रह है कि तथ्यों को सही तरीके से रखे जाएं।

#दोनों स्वास्थ्यमंत्री और राज्यमंत्री के साथ हमने बैठक की है। केंद्र सरकार और राज्य सराकार वहां गई है इस मामले की जांच की जा रही है।-सीएम योगी

#मीडिया में आनी वाले रिपोर्ट्स को लेकर प्रधानमंत्री जी मे हमसे बात की है और उन्होंने भरोसा दिलाया है कि केंद्र सरकार हर संभव मदद करेगी।-सीएम योगी

#यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ सिंह, आशुतोष टंडन और राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल को बुलाया। गोरखपुर बीआरडी मेडिकल कॉलेज मामले में लेंगे जानकारी।

यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने कहा कि इंसेफेलाइटिस आज से नहीं 1978 से है और इसकी वजह गंदगी और खुले में शौच करना है।

# उन्होंने कहा कि1978 से पूर्वी उत्तर प्रदेश अगर इस बीमारी से जूझ रहा है। यहां जागरुकता का आभाव है। इसलिए गंदगी को दूर करना और बीमारी से मुक्ति पाना सरकार के लिए चैलेंज है। मैं समझता हूं कि सरकार समस्या नहीं हो सकती और अगर सरकार समस्या स्वयं में समस्या है तो फिर उस सरकार को रहने का कोई हक़ नहीं।      

बच्चों की मौत गैस सप्लाई की कमी से नहीं हुई है।- सिद्धार्थ नाथ सिंह (यूपी, स्वास्थ्य मंत्री)

#पीएम गोरखपुर मामले में लगातार हालात पर नज़र बनाए हुए हैं। और यूपी सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय से पल पल की जानकारी ले रहे हैं।- पीएमओ  

#यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने सरकार का बचाव करते हुए कि गैस की आपूर्ति की वजह से किसी मरीज की मौत नहीं हुई।

हमने तीन सदस्यीय टीम गठित की है जो अस्पताल में जारी परिस्थिति पर जायजा लेगी और मुझे उससे अवगत कराएगी, इस दर्दनाक घटना के लिए बीजेपी की जितनी निंदा की जाए..कम है: मायावती

# सरकार सच छिपा रही है। इसलिए समाजवादी पार्टी का प्रतिनिधिमंडल बीआरडी मेडिकल कॉलेज जाएगा। वहां परिस्थिति का जायजा लिया जाएगा और इस बारे में सरकार और पार्टी को सूचित किया जाएगा: अखिलेश यादव

# अखिलेश यादव का योगी सरकार पर हमला, कहा- सरकार अपनी जिम्मेदारियों से भाग रही है और इसलिए कह रही है कि विपक्ष मामले को राजनीतिक रंग दे रहा है

# अस्पताल के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। यूपी सरकार के दो मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और आशुतोष टंडन अस्पताल का दौरा करेंगे।

खबर यह भी आ रही है कि अस्पताल में मरीजों का हाल जानने के लिए समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधि मंडल भी गोरखपुर का दौरा करेगा। यह अस्पताल यूपी के सीएम आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र में है।

इस बड़े हादसे के हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद समीक्षा की और मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिये हैं। वहीं सपा, बीएसपी, और कांग्रेस ने इस घटना पर दुख प्रकट किया है।

इसे भी पढ़ेंः गोरखपुर में अस्पताल में लापरवाही से गई 31 जान, योगी को घेरने के लिए विपक्षी दलों को मिला 'ऑक्सीजन'

सभी विपक्षी दलों ने योगी सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े कर दिए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर इस घटना के लिए सरकार को जिम्मेदारा ठहराया है।

ट्वीटर के जरिए अखिलेश ने कहा, 'गोरखपुर में ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की दर्दनाक मौत , सरकार ज़िम्मेदार। कठोर कार्यवाही हो, 20-20 लाख का मुआवज़ा दे सरकार।'

सभी राज्यों की खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

RELATED TAG: Yogi Adityanath, Gorakhpur Hospital, Children Die, Oxygen Supply, Gorakhpur, Brd Medical College,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो