डायबिटीज के खतरे को कम करता हैं अखरोट और सोयाबीन का सेवन

  |  Updated On : October 13, 2017 10:41 AM

नई दिल्ली:  

टाइप-2 डायबिटीज से बचने के लिए ओमेगा-6 से भरपूर आहारों का सेवन करना चाहिए। एक शोध के मुताबिक अखरोट, मछली, सोयाबीन, सूरजमुखी का तेल आदि में ओमेगा-6 पॉलीसैचुरेटेड फैट पाया जाता है। जो टाइप-2 डायबिटीज को रोकने में मदद करता है। इस शोध से ओमेगा-6 के स्वास्थ्य के फायदों भी नजर में आए हैं।

इस शोध के नतीजे बताते हैं कि जिन लोगों में लिनोलिक एसिड का उच्च रक्त स्तर, ओमेगा-6 फैट पाया जाता है उनमे टाइप-2 डायबिटीज होने का खतरा 5 फीसदी कम होता है।

सिडनी के जार्ज इंस्टीट्यूट फऑर ग्लोबल हेल्थ के डॉ. जेसन वू ने कहा,' डाइट में साधारण सा बदलाव टाइप-2 के खतरे को बढ़ने से रोक सकता है, जो विश्व स्तर पर चिंताजनक बन चुका है।'

मैसाचुसेट्स में टफट्स यूनिवर्सिटी से दारीश मोझाफरीन ने कहा कि शोध में शामिल लोग सामान्य रूप से स्वस्थ थे, उन्हें किसी तरह के निर्देश नहीं दिए गए थे। उसके बाद भी जिन लोगों ने ओमेगा-6 से भरपूर आहारों का सेवन किया उनमें टाइप-2 डायबिटीज के खतरे का संभावना कम है।

टीम ने 10 देशों के 39,740 लोगों पर हुई 20 शोधों के डेटा का विश्लेषण किया है, जिसमें से 4,347 मामले नए हैं। शोध में शामिल प्रतिभागियों में 2 मुख्य ओमेगा 6 फैक्ट होते है- लिनोलिक एसिड औऱ एराकिडोनिक एसिड।

लिनोलेइक एसिड कम जोखिम से जुड़ा था, जबकि एराक्रिडोनिक एसिड के स्तर में मधुमेह के उच्च या निम्न जोखिम के साथ काफी महत्वपूर्ण नहीं थे। यह शोध लांसेट मधुमेह और एंडोक्रिनोलॉजी पत्रिका में छपी हुई हैं।

इसे भी पढ़ें: 20 सालों में नॉन स्मोकर्स में बढ़ा लंग कैंसर का खतरा-विशेषज्ञ

RELATED TAG: Omega-6 Polyunsaturated Fats,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो