Breaking
  • तीन तलाक बिल: मेनका गांधी ने कहा- कानून की आवश्यकता पर नहीं उठाए सवाल
  • अब सरकार से बड़े आर्थिक सुधार की उम्मीद होगी बेमानी: एसोचैम
  • बलूचिस्तान: क्वेटा में चर्च के पास धमाका, चार घायल
  • INDvSL तीसरा वनडे: भारत ने टॉस जीतकर लिया गेंदबाजी का फैसला
  • असम के धेमाजी में आया 4.2 तीव्रता का भूकंप
  • सुरक्षा बलों ने बारामुला के पट्टन इलाके में सर्च ऑपरेशन किया लॉन्च
  • पाकिस्तान सरकार ने जाधव की पत्नी और मां के वीजा को किया मंजूर
  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी सांसद और पद अधिकारियों को दिया डिनर का न्योता
  • मध्यप्रदेश: कांग्रेस नेता कमल नाथ पर बंदूक तानने वाले पुलिस कांस्टेबल के खिलाफ FIR दर्ज
  • अमृतसर, जालंधर और पटियाला की 32 नगर परिषदों और नगर पंचायतों पर मतदान हुआ शुरू
  • गुजरात चुनाव: आज 6 बूथों पर फिर से होगा मतदान

गुजरात : बिना अनुमति मनसा रैली के लिए हार्दिक पटेल और 6 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज

  |  Updated On : November 30, 2017 10:43 PM
पाटीदार नेता हार्दिक पटेल (IANS)

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल (IANS)

गांधीनगर:  

गांधीनगर पुलिस ने बिना अनुमति मनसा में रैली आयोजित कर कानून तोड़ने और शांति में खलल डालने के लिए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और छह अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

गांधीनगर के पुलिस अधीक्षक, वीरेंद्र सिंह यादव ने कहा, 'हमने हार्दिक पटेल, मनसा रैली के आयोजक उमिया डेकोरेटर्स के मालिक धर्मेश पटेल, और पांच अन्य के खिलाफ जिला प्रशासन से अनुमति के बगैर रैली आयोजित करने के लिए मामला दर्ज किया है।'

गांधीनगर के एसपी ने कहा, 'हम कानून तोड़ने में शामिल रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।'

पुलिस ने हार्दिक पटेल और अन्य के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत प्रशासनिक आदेश को न मानने के लिए मामला दर्ज किया है।

और पढ़ें: सोमनाथ विवाद: राहुल का पलटवार, कहा-धर्म हमारा निजी मामला, नहीं करते इसकी दलाली और कारोबार

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के नेता पिछले दो वर्षो से राज्यभर में विरोध रैलियां आयोजित कर रहे हैं, जिनमें कई स्थानों पर रैलियां सरकार या स्थानीय प्रशासन की अनुमति के बगैर आयोजित की गईं हैं।

अभी तक न तो हार्दिक पटेल पर इसके लिए कोई मामला दर्ज किया गया है और न उनके सहयोगियों पर और न अन्य सदस्यों पर ही।

पीएएएस ने राज्य में सत्ताधारी भाजपा के खिलाफ जारी विरोध रैलियों की श्रृंखला के हिस्से के रूप में शनिवार को मनसा में एक विशाल रैली आयोजित की थी।

मनसा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का पैत्रिक गांव है। रैली से पूर्व हार्दिक ने संकेत दिया था कि वह कुछ खुलासों के जरिए एक बड़ा बम गिराएंगे, जिससे बीजेपी हिल जाएगी। लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया।

और पढ़ें: देश में दलितों के खिलाफ बढ़े अत्याचार के मामले, महिलाओं के खिलाफ अपराध में टॉप पर यूपी: NCRB

उन्होंने और उनके समर्थकों ने अलबत्ता पुलिस की चेतावनी को दरकिनार करते हुए शनिवार की सर्द रात को एक विशाल रैली की।

एक राजनीतिक पर्यवेक्षक ने कहा, 'पुलिस की कार्रवाई चुनाव संपन्न होने के बाद होगी। राज्य सरकार हार्दिक पर हाथ डालने की हिम्मत नहीं कर सकती, क्योंकि चुनाव में इसका उनपर विपरीत असर होगा। चुनाव समाप्त होने के बाद वे कार्रवाई करेंगे।'

और पढ़ें: बेहतर भारत के लिए राजनीतिक नुकसान उठाने को तैयार: पीएम

निर्वाचन आयोग भी हार्दिक पटेल के भाषणों पर बराबर नजर बनाए हुए है और उनकी सार्वजनिक सभाओं की वीडियो रिकॉर्डिग की जा रही है। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन पाए जाने पर निर्वाचन आयोग कार्रवाई करेगा।

गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी, बी.बी. स्वैन ने कहा, "हम हार्दिक की उन रैलियों पर खर्च हो रही धनराशि पर भी नजर रखे हुए हैं, जहां उनके साथ किसी राजनीतिक पार्टी का उम्मीदवार भी उपस्थित होता है।'

और पढ़ें: अर्थव्यवस्था ने पकड़ी रफ्तार, दूसरी तिमाही में 6.3% हुई GDP

RELATED TAG: Hardik Patel, Mansa Rally,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो