Breaking
  • जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने नाबालिग आरोपी की जमानत अर्जी को खारिज किया
  • कांग्रेस को झटका, गुजरात चुनाव की काउंटिंग में SC का दखल से इंकार
  • राज्यसभा दिन भर के लिए स्थगित
  • क्रिकेटर अजिंक्य रहाणे के पिता हिरासत में, कार से महिला को कुचलने का लगा आरोप
  • तीन तलाक: सूत्रों के हवाले से खबर, मोदी कैबिनेट ने बिल पर लगाई मुहर
  • माइक्रोवेव ओवन इंपोर्ट पर कस्टम ड्यूटी 10 प्रतिशत से बढ़कर 20 फीसदी हुई
  • हिमाचल में कांग्रेस का सफाया, गुजरात में फिर BJP सरकार: एग्जिट पोल -Read More »
  • इन मुद्दों पर सरकार को घेरेगा विपक्ष, आक्रामक रहेगी कांग्रेस

भारी विरोध-प्रदर्शन के बीच हमास का फिलीस्तीनियों से 'जन विद्रोह' का आह्वान

  |  Updated On : December 07, 2017 11:53 PM
भारी विरोध-प्रदर्शन के बीच हमास का 'जन विद्रोह' का आह्वान (फोटो-IANS)

भारी विरोध-प्रदर्शन के बीच हमास का 'जन विद्रोह' का आह्वान (फोटो-IANS)

गाजा:  

अमेरिका द्वारा यरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के खिलाफ इस्लामी हमास ने गुरुवार को फिलीस्तीनियों से 'जन विद्रोह' का आह्वान किया।

हमास का यह आह्वान वेस्ट बैंक, गाजा पट्टी और पूर्वी यरुशलम में बड़े पैमाने पर हो रहे प्रदर्शनों के बीच आया है। व्यापक हड़ताल के कारण दुकानें बंद रही और स्थानीय बाजारों में व्यवसाय प्रभावित रहा।

वेस्ट बैंक के रामल्लाह, बेथलेहम और हेब्रोन शहरों के साथ पूर्वी यरुशलम और गाजा पट्टी में भी विरोध प्रदर्शन हुए। दर्जनों की संख्या में युवकों ने ट्रंप के कदम पर गुस्सा जाहिर करते हुए गाजा के विभिन्न हिस्सों में रात भर टायरों को आग से जलाकर प्रदर्शन किया।

खबरों के अनुसार, गाजा में इजराइली सैनिकों के साथ हुए संघर्ष के दौरान तीन फिलीस्तीन घायल हो गए।

जन विद्रोह का आह्वान

एक जनसभा को संबोधित करते हुए हमास के प्रमुख इस्माइल हानिये ने कहा, 'कल सार्वजनिक क्रोध का दिन होगा और यह आंदोलन यरुशलम की स्वतंत्रता के लिए जन विद्रोह (इंतिफादा) के नाम से शुरू होगा।'

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट में कहा गया कि उन्होंने कहा कि शुक्रवार से 'नए आंदोलन की शुरुआत होगी', जो इजरायल के वेस्ट बैंक और यरुशलम को हथियाने की योजना से लड़ने के लिए होगी।

हानिये ने कहा, 'ट्रंप को इस निर्णय पर अफसोस होगा।' उन्होंने वर्तमान स्थिति पर चर्चा करने और फिलिस्तीन की भविष्य की राजनीति को लेकर एक समझौते पर पहुंचने के लिए एक आम फिलीस्तीन बैठक का आह्वान किया।

और पढ़ें: महमूद अब्बास ने कहा- यरुशलम फिलीस्तीन की मूल राजधानी

ट्रंप द्वारा दी गई मान्यता को 'फिलीस्तीन मुद्दे के इतिहास में एक मोड़' करार देते हुए हमास के नेता ने जोर देकर कहा कि यरुशलम 'हमेशा जीत का उद्गम, क्रांतियों की शुरुआत और जन आंदोलन का शुरुआती बिंदु रहा है'।

उन्होंने दोहराया कि हमास फिलीस्तीन क्षेत्रों पर इजरायल के कब्जे की वैधता को कभी मान्यता नहीं देगा।

ट्रंप ने बुधवार को आधिकारिक रूप से यरुशलम को इजराइल की राजधानी के घोषित किया था और अमेरिकी दूतावास को तेल अवीव से इस प्राचीन शहर में ले जाने का इरादा जाहिर किया था।

अमेरिकी नेता की इस घोषणा ने फिलिस्तीनियों के बीच क्रोध और आक्रोश की लहर पैदा कर दी है। फिलीस्तीन विद्रोहियों और राजनीतिक ताकतों (दलों) ने वेस्ट बैंक, गाजा पट्टी और पूर्वी यरुशलम में आम हड़ताल की घोषणा की। कुछ ने गाजा में अमेरिकी झंडों के साथ ट्रंप की तस्वीरों को आग से जलाया।

और पढ़ें: नरेन्द्र मोदी ट्विटर पर डोनाल्ड ट्रंप के बाद सबसे चर्चित नेता, देखिए टॉप-10 लिस्ट

RELATED TAG: Palestinian, Protest, Donald Trump, Jerusalem, Hamas, Leader, Mass Rebellion,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो