Breaking
  • कुम्मानम राजशेखरन मिजोरम के नए राज्यपाल के रूप में नियुक्त किये गए
  • जम्मू-कश्मीर: कुलगाम जिले में आतंकियों ने पुलिस पोस्ट पर की फायरिंग
  • IPL 2018: सनराइजर्स हैदराबाद ने कोलकाता को दिया 175 रनों का लक्ष्य
  • केरल में 27 मई से लेकर 29 मई तक भारी बारिश की संभावना
  • IPL 2018: कोलकाता ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया
  • CBSE 12th Result 2018: कल 12वीं के नतीजे होंगे घोषित, ऐसे करें चेक -Read More »
  • बिग बी ने 'कौन बनेगा करोड़पति' की रिकॉर्डिग शुरू की, शो में ऐसे करें रजिस्ट्रेशन -Read More »
  • कर्नाटक फ्लोर टेस्ट: कुमारस्वामी ने 117 वोटों के साथ जीता विश्वासमत -Read More »
  • होटल विवाद मामले में सेना ने मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के दिये आदेश -Read More »
  • सीबीएसई कक्षा 12 का परीक्षा परिणाम कल घोषित किया जाएगा

पनामागेट मामले में पीएम नवाज शरीफ ने जेआईटी की रिपोर्ट को किया खारिज

  |   Updated On : July 17, 2017 11:34 PM
पनामागेट पर जेआईटी की रिपोर्ट को नवाज शरीफ ने किया खारिज

पनामागेट पर जेआईटी की रिपोर्ट को नवाज शरीफ ने किया खारिज

ख़ास बातें
  •  पनामागेट मामले में नवाज शरीफ ने जेआईटी की रिपोर्ट को किया खारिज
  •  पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट में चल रही नवाज खिलाफ मामले की सुनवाई

नई दिल्ली:  

पनामगेट मामले में फंसे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के कानूनी सलाहकारों ने जेआईटी की जांच रिपोर्ट को गैरकानूनी और पक्षपाती बताते हुए खारिज कर दिया। सुप्रीम कोर्ट में चल रहे केस की सुनवाई में जेआईटी ने अपनी रिपोर्ट सौंपते हुए प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी पर केस दर्ज करने की मांग की थी।

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप लगने के बाद पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने 6 सदस्यों वाली संयुक्त जांच टीम (जेआईटी) का गठन किया था। 67 साल के नवाज शरीफ और उनके परिजनों पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में जेआईटी ने 10 जुलाई को अपनी रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट में सौंपी थी।

नवाज शरीफ के तरफ से ख्वाजा हरीस ने कोर्ट में जवाब देते हुए कहा, 'जेआईटी रिपोर्ट में जो आरोप लगाए गए हैं वो पूर्वाग्रह से ग्रसित हैं और मूल तथ्यों के साथ छेड़ छाड़ भी की गई है।' ख्वाज ने कहा, 'ये जेआईटी रिपोर्ट ना सिर्फ कानून के खिलाफ है बल्कि ये देश के संविधान के खिलाफ भी है इसलिए कानूनी रूप से इसका कोई मूल्य नहीं है।'

जेआईटी के दूसरे देशों से भी पनामागेट से जुड़े मामले में कागजात मंगवाने पर सवाल उठाते हुए ख्वाजा ने कहा ये देश के कानू ओर संविधान के खिलाफ है। ख्वाजा ने कोर्ट से जेआईटी रिपोट् के 10 खंड को भी उपलब्ध कराने का आग्रह किया जिसकों जेआईटी ने गोपनीय बना रखा है।

ये भी पढ़ें: सिगरेट बनाने वाली कंपनियों को झटका, GST काउंसिल ने बढ़ाई सेस

न्यायमूर्ति एजाज अफजल खान, न्यायमूर्ति शेख अजमत तथा न्यायमूर्ति इजाजुल हसन की तीन सदस्यीय पीठ ने इस हाईप्रोफाइल मामले की सुनवाई कर रही है। सर्वोच्च न्यायालय ने 20 अप्रैल को शरीफ के परिवार की संपत्ति की जांच का आदेश दिया था, जिसके बाद एक संयुक्त जांच दल (जाआईटी) का गठन किया गया था।

जांच दल ने 10 जुलाई को 60 दिनों की जांच रिपोर्ट सर्वोच्च न्यायालय को सौंप दी। जेआईटी ने शरीफ परिवार पर झूठा होने तथा आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति होने का आरोप लगाया।

ये भी पढ़ें: भारत-चीन सीमा विवाद पर TMC का नोटिस, नियम 267 के तहत राज्यसभा में चर्चा की मांग

रिपोर्ट में इस बात पर भी जोर दिया गया है कि शरीफ परिवार लंदन में अपार्टमेंट के लिए पैसों का स्रोत बताने में नाकामयाब रहा। रिपोर्ट आने के बाद शरीफ ने कोई भी गलत काम करने से इनकार किया।

जेआईटी ने अपनी रिपोर्ट में शरीफ के बच्चों-बेटी मरियम नाज तथा बेटों हसन व हुसैन नवाज पर 'फर्जी' दस्तावेज जमा कराने का आरोप लगाया है। रिपोर्ट के मुताबिक, मरियम नवाज पर लंदन में दो आलिशान अपार्टमेंट लेने के लिए जाली कागजातों पर हस्ताक्षर करने का आरोप लगाया गया है।

ये भी पढ़ें: अानन-फानन में बुलाई GST परिषद की बैठक, घटाई जा सकती है तंबाकू की दरें

सुनवाई से पहले, आवामी मुस्लिम लीग (एएमएल) की प्रमुख शेख रशीद सहित विपक्ष के नेता सर्वोच्च न्यायालय पहुंचे और संवाददाताओं से बातचीत में शरीफ के इस्तीफे की मांग को दोहराया।

विपक्षी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेता इमरान खान ने कहा कि प्रधानमंत्री जेल जाएंगे और अगर न्यायालय उन्हें पद से हटाने में नाकाम रहा, तो वह विरोध-प्रदर्शन करेंगे।

पीटीआई के प्रवक्ता फवाद चौधरी ने कहा कि उनके वकील नईम बुखारी ने सर्वोच्च न्यायालय से अपील की है कि अगर जरूरत पड़े तो शरीफ को जिरह के लिए बुलाया जाए, संसद के लिए उन्हें अयोग्य ठहराया जाए तथा उनके व उनके परिवार के खिलाफ मामलों को अकाउंटिबिलिटी कोर्ट को भेजा जाए।

ये भी पढ़ें: राज्यों के दौरे पर प्रधानमंत्री को बुके देने पर केंद्र ने लगाई रोक, मोदी ने की थी 'बुके के बदले बुक' देने की अपील

RELATED TAG: Jit, Nawaz Sharif, Joint Investigation Team,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो