Breaking
  • उन्नाव रेप केस: आरोपी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर 3 दिन की सीबीआई हिरासत में
  • LIVE RR Vs KKR : एलिमिनेटर में राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स आमने-सामने -Read More »
  • कुमारस्वामी ने ली सीएम पद की शपथ, विपक्ष का शक्ति प्रदर्शन -Read More »
  • SSC पेपर लीक मामला: सीबीआई ने दर्ज़ किया एफआईआर, देश के 12 अलग-अलग जगहों पर चल रहा है सर्च ऑपरेशन
  • एबी डिविलियर्स ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास
  • कांग्रेस के जी परमेश्वर ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री के तौर पर ली शपथ
  • कर्नाटक: एच डी कुमारस्वामी ने ली सीएम पद की शपथ, सोनिया-राहुल भी मौजूद
  • दिल्ली: तैमूर नगर के एक ईमारत में लगी आग, 22 दमकल गाड़ियां मौक़े पर
  • भारतीय वायुसेना का चीता हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश, कोई हताहत नहीं
  • दिल्ली: मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने पर कांग्रेस ने जारी किया पोस्टर, लिखा- 'विश्वासघात'
  • जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग के बिजबेहरा में ग्रेनेड अटैक, 6 लोग घायल
  • जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तानी गोलीबारी में मंगलवार रात से अब तक चार लोगों की मौत
  • तमिलनाडु: मद्रास हाई कोर्ट ने स्टरलाइट कंपनी के कॉपर स्मेलटर निर्माण पर लगाई रोक
  • गृह मंत्रालय ने तूतिकोरिन घटना को लेकर तमिलनाडु सरकार से मांगी रिपोर्ट
  • जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान की भारी गोलीबारी से कठुआ में एक की मौत, दो घायल
  • कर्नाटक में कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण समारोह शुरू

भारत, चीन को निशाना बनाने के लिए बना रहा है अत्याधुनिक मिसाइल: अमेरिकी विशेषज्ञ

  |   Updated On : July 13, 2017 01:50 PM
भारत बना रहा है अत्याधुनिक मिसाइल (फाइल फोटो)

भारत बना रहा है अत्याधुनिक मिसाइल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

अमेरिकी विशषज्ञों ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि भारत अब पाकिस्तान के बजाय चीन को ध्यान में रखकर हथियार जमा कर रहा है।

दो शीर्ष विशेषज्ञों ने कहा है कि भारत अपने परमाणु हथियारों के स्टॉक को लगातार अत्याधुनिक बना रहा है। हालांकि भारत अब तक पाकिस्तान को ध्यान में रखकर परमाणु नीति बनाता था लेकिन अब इस देश का ध्यान चीन की तरफ़ है।

डिजिटल जर्नल 'आफ्टर मिडनाइट' के जुलाई-अगस्त अंक में प्रकाशित एक आलेख में ऐसा दावा किया गया है कि भारत अब एक ऐसी मिसाइल विकसित कर रहा है, जिससे दक्षिण भारतीय बेसों से भी पूरे चीन पर निशाना साधा जा सके।

हैन्स एम. क्रिस्टेन्सन और रॉबर्ट एस. नॉरिस ने आलेख 'इंडियन न्यूक्लियर फोर्सेज़ 2017' में लिखा है, 'भारत के पास अनुमानतः इतना प्लूटोनियम जमा हो गया है, जिनसे वह 150-200 परमाणु हथियार बना सकता है, लेकिन संभवतः उसने सिर्फ 120-130 हथियार बनाए हैं।'

भारत-चीन सीमा विवाद पर सरकार ने बुलाई सभी दलों की बैठक: सूत्र

दोनों विशेषज्ञों का कहना है, 'वैसे, भारत परंपरागत रूप से पाकिस्तान को रोकने पर ध्यान केंद्रित करता रहा है, लेकिन परमाणु हथियारों का आधुनिकीकरण संकेत देता है कि वह अब चीन के साथ भविष्य में होने वाले रणनीतिक ताल्लुकात पर ज़्यादा ज़ोर दे रहा है।'

विशेषज्ञों के अनुसार, "इसका परिणाम यह होगा कि भारत अगले दशक के भीतर खासी नई क्षमताएं पैदा कर लेगा, जिनसे यह भी तय होगा कि वह पाकिस्तान के खिलाफ परमाणु हथियारों की भूमिका को कैसे देखता है।'

आलेख के मुताबिक, 'कम से कम चार सिस्टम और विकसित किए जा रहे हैं। यह कार्यक्रम भी डायमनिक स्टेज तक पहुंच चुका है, और लम्बी दूरी की ज़मीन और समुद्र से मार करने में सक्षम मिसाइलों को संभवत अगले एक दशक के भीतर तैनात किया जा सकेगा।'

जेल में बंद शशिकला अधिकारियों को घूस देकर ले रही हैं खास सुविधाएं

विशेषज्ञों ने आलेख में दावा किया है कि भारत ने अनुमानतः लगभग 600 किलोग्राम वेपन-ग्रेड (हथियारों में इस्तेमाल किया जाने वाला) प्लूटोनियम तैयार कर लिया है, जो 150-200 नाभिकीय हथियार बनाने के लिए पर्याप्त है, लेकिन सारे प्लूटोनियम को हथियारों में तब्दील नहीं किया गया है।

विशेषज्ञों ने कहा कि भारत के पास इस वक्त सात परमाणु-सक्षम सिस्टम मौजूद हैं, जिनमें दो विमान, चार ज़मीन पर मौजूद बैलिस्टिक मिसाइलें और एक समुद्र में स्थित बैलिस्टिक मिसाइल भी शामिल है।

आईफा अवॉर्ड 2017: धमाल मचाने को तैयार बॉलीवुड, करन जौहर सैफ अली खान बनेंगे होस्ट

RELATED TAG: Nuclear, Arsenal, Atomic Arsenal, India, China, Pakistan, Sikkim,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो