BREAKING NEWS
  • IPL 12, RR vs KXIP Live: ताश के पत्तों की तरह बिखर गई राजस्थान की पारी, 14 रनों से जीता पंजाब- Read More »
  • IPL 12, RR vs KXIP Live: राजस्थान का 9वां विकेट गिरा, 3 रन बनाकर आउट हुए कृष्णप्पा गौतम- Read More »
  • IPL 12, RR vs KXIP Live: राजस्थान का 8वां विकेट गिरा, 1 रन बनाकर आउट हुए जयदेव उनादकट- Read More »

#Navratri2017: गुजरात में ऐसे शुरू हुई डांडिया खेलने की प्रथा

News State Bureau  |   Updated On : September 28, 2017 08:38 AM
नवरात्रि 2017 (फाइल फोटो)

नवरात्रि 2017 (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

देशभर में धूमधाम से नवरात्रि का त्योहार मनाया जा रहा है। नौ दिनों के व्रत के साथ-साथ मां दुर्गा की पूजा और उनके जयकारों की गूंज उठती है। लेकिन गुजरात में डांडिया खेलकर इसे खास अंदाज में मनाया जाता है। आइए जानते हैं कि आखिर गुजरात में डांडिया की धूम क्यों है...

डांडिया गुजरात का पारंपरिक लोकनृत्य है, जिसे सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। कहा जाता है कि नवरात्रि के नौ दिनों में डांडिया खेलकर भक्तजन मां दुर्गा को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं। साथ ही अपने लिए मनचाहे फल की कामना करते हैं।

ये भी पढ़ें: नवरात्रि 2017: देशभर में छाया गरबा और डांडिया का खुमार, देखे तस्वीरें 

धार्मिक महत्व के साथ ही डांडिया मौज-मस्ती के रंग बिखरने के लिए भी जाना जाता है। इसे लेकर श्रद्धालुओं में खासा उत्साह देखा जा सकता है। इस आयोजन में सभी आयु वर्ग के लोग शामिल होते हैं।

युवाओं के लिए अपने संस्कृति से जुड़ने का सुनहरा अवसर होता है। वे पूरी रात डांडिया और गरबे की मस्ती में झूमते हैं। इससे चारों तरफ उत्सव का माहौल रहता है।

नवरात्रों में शाम को डांडिया नृत्य के जरिए मां दुर्गा की पूजा की जाती है। नवरात्रों की पहली रात्रि को कच्चे मिट्टी के छेदयुक्त घड़े (जिसे 'गरबो' कहते हैं) की स्थापना होती है। फिर उसके अंदर दीपक जलाया जाता है। यह दीप ज्ञान की रोशनी का प्रतीक माना जाता है।

ये भी पढ़ें: जानें, रावण की सोने की लंका जलाने वाले अंजनी पुत्र हनुमान के बारे में

सालों पहले गुजरात में महिषासुर राक्षस के आतंक से त्रस्त लोगों ने ब्रह्मा, विष्णु और महेश की आराधना की। देवताओं के प्रकोप से तब देवी जगदंबा प्रकट हुर्इं और उन्होंने उस राक्षस का वध किया। तभी से यहां नवरात्रि में भक्तगण नौ दिन तक उपवास करने लगे और देवी के सम्मान में डांडिया करने लगे।

गरबा या डांडिया खेलते वक्त लोग पारंपरिक परिधान पहनते हैं। लड़कियां चनिया-चोली पहनती हैं तो वहीं लड़के गुजराती केडिया पहनकर सिर पर पगड़ी बांधते हैं।

मां दुर्गा को पंसद इस नृत्य गरबा में ताली, चुटकी, खंजरी, डंडा या डांडिया और मंजीरा का काफी इस्तेमाल किया जाता है। गरबा में लोग एक समूह में मिलकर नृत्य करते हैं और साथ में देवी मां के गीतों को भी गाया जाता है।

ये भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: BSF जवान को आतंकियों ने घर में घुस कर मारा, परिवार घायल

First Published: Thursday, September 28, 2017 08:32 AM

RELATED TAG: Navratri 2017,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटरऔरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो