योगी से गोरखपुर नहीं संभल रहा तो यूपी कैसे संभालेंगे, तत्काल दें इस्तीफा: कांग्रेस

By   |  Updated On : August 13, 2017 04:32 PM
यूपी कांग्रेस प्रेसिडेंट राज बब्बर (फाइल फोटो)

यूपी कांग्रेस प्रेसिडेंट राज बब्बर (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  गोरखपुर हादसे के लिए कांग्रेस ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ठहराया जिम्मेदार
  •  कांग्रेस ने कहा योगी से उनका संसदीय क्षेत्र नहीं संभल रहा तो वह यूपी कैसे संभालेंगे
  •  कांग्रेस ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांगा इस्तीफा, कहा बच्चों की हत्या के लिए जिम्मेदार योगी सरकार

नई दिल्ली :  

गोरखपुर के बाबा राघव दास (बीआरडी) अस्पताल में 70 बच्चों की 'हत्या' के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कांग्रेस ने कहा यह घटना योगी सरकार की विफलता को जाहिर करता है। कांग्रेस ने इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग को दुहराया।

योगी आदित्यनाथ के बीआरडी अस्पताल के दौरे के बाद यूपी कांग्रेस के प्रेसिडेंड राज बब्बर ने कहा, 'यह सरकार हत्यारी है। बच्चे मरे नहीं बल्कि उनकी हत्या की गई। सबसे शर्मनाक है कि यह सब कुछ योगी आदित्यनाथ के लोकसभा क्षेत्र में हुआ। अगर वह अपने चुनावी क्षेत्र का ख्याल नहीं रख सकते हैं तो वह उत्तर प्रदेश जैसे राज्य को क्या संभालेंगे? उन्हें तत्काल अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए।'

भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर बड़ा हमला करते हुए बब्बर ने कहा, 'जांच से क्या फायदा होगा, जब आप पहले ही बता चुके हैं कि मौतें ऑक्सीजन की कमी से हुई।' कांग्रेस नेता ने इसके साथ ही सिद्धार्थनाथ सिंह को भी निशाना बनाया।

'बाबरी विवाद में फैसला हक में आए तो हिंदुओं को जमीन सौंप दे मुस्लिम'

यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था, 'अगस्त महीने में मौतें होती रही हैं।' बब्बर ने कहा, 'स्वास्थ्य मंत्री की तरफ से ऐसे बयान आना शर्मनाक है और उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए।'

इस बीच बीआरडी अस्पताल में मरने वाले बच्चों की संख्या बढ़कर 70 हो गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने शनिवार को यूपी के गोरखपुर जाकर अस्पताल की स्थिति का जायजा लिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में मजिस्ट्रेट स्तर की जांच के आदेश दे दिए गए हैं और कमिटि का गठन कर दिया गया है।

BRD अस्पताल के दौरे के बाद योगी बोले- सियासत नहीं संवेदना का वक्त है

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो