Breaking
  • कुम्मानम राजशेखरन मिजोरम के नए राज्यपाल के रूप में नियुक्त किये गए
  • जम्मू-कश्मीर: कुलगाम जिले में आतंकियों ने पुलिस पोस्ट पर की फायरिंग
  • IPL 2018: सनराइजर्स हैदराबाद ने कोलकाता को दिया 175 रनों का लक्ष्य
  • केरल में 27 मई से लेकर 29 मई तक भारी बारिश की संभावना
  • IPL 2018: कोलकाता ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया
  • CBSE 12th Result 2018: कल 12वीं के नतीजे होंगे घोषित, ऐसे करें चेक -Read More »
  • बिग बी ने 'कौन बनेगा करोड़पति' की रिकॉर्डिग शुरू की, शो में ऐसे करें रजिस्ट्रेशन -Read More »
  • कर्नाटक फ्लोर टेस्ट: कुमारस्वामी ने 117 वोटों के साथ जीता विश्वासमत -Read More »
  • होटल विवाद मामले में सेना ने मेजर गोगोई के खिलाफ कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के दिये आदेश -Read More »
  • सीबीएसई कक्षा 12 का परीक्षा परिणाम कल घोषित किया जाएगा

कलकत्ता हाई कोर्ट ने केंद्र सराकार को बदुरिया दंगे की NIA जांच पर रुख साफ करने का दिया निर्देश

  |   Updated On : July 12, 2017 05:06 PM
कलकत्ता हाई कोर्ट ने बदुरिया दंगा जांच पर केंद सरकार को रुख सााफ करने का दिया निर्देश (फाइल फोटो)

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बदुरिया दंगा जांच पर केंद सरकार को रुख सााफ करने का दिया निर्देश (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  बदुरिया दंगा की जांच पर रुख साफ करे केंद्र सरकार: कलकत्ता हाई कोर्ट
  •  धर्म से जुड़े एक फेसबुक पोस्ट को लेकर हुआ था दंगा

 

नई दिल्ली:  

पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना में फेसबुक पोस्ट को लेकर हुए सांप्रदायिक दंगे की जांच पर कलकत्ता हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को अपना रूख साफ करने का निर्देश दिया है।

केंद्र सरकार ने उत्तर 24 परगना के बदुरिया में हुए सांप्रदायिक दंगे की जांच एनआईए से कराने का फैसला लिया है। एनआई की जांच का विरोध करते हुए कलकत्ता हाई कोर्ट में एक याचिक दाखिल की गई थी।

इसी याचिका पर सुनावई के बाद जिस्टिस निशिता महातरे और जस्टिस टी चक्रवर्ती की बेंच ने केंद्र सरकार के वकील को जांच पर रूख साफ करने का निर्देश दिया है। कोर्ट के निर्देश पर केंद्र सरकार की तरफ से एडिशनल सॉलिसिटर जनरल कौशिक चंदा ने कहा कि वो इस संबंध में कोर्ट के निर्देश से केंद्र सरकार को अवगत कराएंगे।

इस मामले में अब अगली सुनवाई 21 जुलाई को होगी। इसके साथ ही कोलकाता हाई कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार को भी 21 जुलाई तक सांप्रदायिक दंगे को खत्म करने और वहां शांति बनाने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी देने का आदेश दिया है।

राज्य सरकार की तरफ से कोर्ट में पेश हुए वकील किशोर दत्ता ने बताया कि सांप्रदायिक दंगा फैलाने के मामले में पुलिस ने 32 अलग-अलग केस दर्ज किए हैं और 66 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

ये भी पढ़ें: सजायाफ्ता MLA और MP के आजीवन चुनाव लड़ने की पाबंदी पर रुख साफ करे EC: SC

उत्तरी 24 परगना में धर्म से जुड़े एक विवादित फेसबुक पोस्ट के बाद दो समुदायों के बीच हिंसा भड़क गई थी जिसमें एक शख्स की जान चली गई थी। उपद्रवी भीड़ ने विरोध प्रदर्शन के दौरान कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया था।

ये भी पढ़ें: तेजस्वी यादव का दावा- महागठबंधन नहीं टूटेगा, मेरे खिलाफ शाह और पीएम मोदी कर रहे हैं साजिश

RELATED TAG: Baduria Riots, Calcutta High Court, National Investigation Agency,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो