Breaking
  • प्रद्युम्न हत्या मामला: आरोपी बस कंडक्टर की जमानत पर फैसला कल तक के लिए सुरक्षित
  • गुजरात चुनाव 2017: बीजेपी ने जारी की 26 उम्मीदवारों की तीसरी सूची
  • वैष्णो देवी दर्शन के लिए नया रास्ता खोलने के NGT के निर्देश पर SC की रोक
  • CWC बैठक: 1 दिसंबर को कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष का ऐलान होगा
  • कालेधन पर बड़ी कामयाबी, स्विस सरकार भारत को देगी खातों की जानकारी (पढ़ें खबर) -Read More »

नारायण मूर्ति बोले, इंफोसिस का चेयरमैन पद छोड़ने पर अब है अफसोस

  |  Updated On : July 17, 2017 11:38 PM
नारायण मूर्ति (फाइल फोटो- पीटीआई)

नारायण मूर्ति (फाइल फोटो- पीटीआई)

नई दिल्ली :  

भारत की सॉफ्टवेयर कंपनी इंफोसिस के सह-संस्थापक एनआर नारायणमूर्ति ने सोमवार को कहा कि उन्हें 2014 में कंपनी के चेयरमैन पद को छोड़ने पर अफसोस है। मूर्ति ने कहा कि उन्हें दूसरे सह-संस्थापकों की बात सुननी चाहिए थी और पद पर बने रहना चाहिए था।

हाल में विशाल सिक्का के नेतृत्व में कंपनी के मौजूदा प्रबंधन और मूर्ति के बीच कई मुद्दों पर विवाद और मनमुटाव देखा गया। हालांकि, मूर्ति ने कहा कि वह अब भी रोज इंफोसिस के परिसर जाना नहीं भूलते।

अपनी व्यक्तिगत और पेशेवर जिंदगी के सबसे बड़े अफसोस के बारे में मूर्ति ने कहा, 'मेरे कई सह संस्थापकों ने 2014 में इंफोसिस नहीं छोड़ने और कुछ दिनों तक बने रहने को कहा था।'

यह भी पढ़ें: सिगरेट बनाने वाली कंपनियों को झटका, GST काउंसिल ने सेस में किया इजाफा

एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में मूर्ति ने कहा, 'आमतौर पर मुझे लगता है कि मैं बहुत भावुक इंसान हूं। मेरे ज्यादातर फैसले आदर्शवाद पर निर्भर होते हैं, शायद मुझे उनकी बातें सुननी चाहिए थी।'

मूर्ति ने इंफोसिस शुरू करने के 33 साल बाद 2014 में कंपनी को अलविदा कह दिया था। उन्होंने छह दूसरे सह-संस्थापकों के साथ मिलकर इस कंपनी को शुरू किया था। मूर्ति 21 साल तक सीआईओ रहे थे।

यह भी पढ़ें: कुर्द अधिकारी का दावा, मरा नहीं-अभी जिंदा है IS का दुर्दांत आतंकी बगदादी

RELATED TAG: Nr Narayana Murthy, Infosys,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो