नोटबंदी: आय से अधिक कैश जमा कराने वाले 5.56 लाख लोगों पर इनकम टैक्स विभाग सख्त

By   |  Updated On : July 14, 2017 11:45 PM
नोटबंदी: कैश जमा कराने वाले 5.56 लाख लोगों पर इनकम टैक्स विभाग सख्त

नोटबंदी: कैश जमा कराने वाले 5.56 लाख लोगों पर इनकम टैक्स विभाग सख्त

नई दिल्ली :  

आयकर विभाग ने 5.56 लाख ऐसे लोगों की पहचान की है जिनकी नोटबंदी के दौरान जमा कराई गयी राशि उनकी टैक्स प्रोफाइल से मेल नहीं खाती। 

विभाग ने 1.04 लाख ऐसे लोगों की भी पहचान की है जिन्होंनें ई-वेरीफिकेशन के दौरान पूछे जाने पर भी अपने सभी बैंक खातों की जानकारी नहीं दी। इसलिए आयकर विभाग ने इन सभी खाताधारकों से स्पष्टीकरण मांगा है। 

आयकर विभाग द्वारा मीडिया में जारी रिपोर्ट्स के अनुसार, ऑपरेशन क्लीन मनी के पहले चरण में खातों के ई-वेरीफिकेशन के लिए 17.92 लाख लोगों की पहचान की गयी थी। जिसमे से 9.72 लाख लोगों ने खातों का ऑनलाइन वेरीफिकेशन जमा करा दिया है।

अब आयकर विभाग बाकी बचे लोगों के खातों की जांच कर रहा है और टैक्स चोरी का पता करने में जुटा है। ऑपरेशन ‘क्लीन मनी’ के तहत जुटाई गई जानकारी में पता चला है कि इन लोगों ने अपने टैक्स प्रोफाइल में नोटबंदी के दौरान जमा की गई रकम का कोई ब्यौरा नहीं दिया है।

विभाग ने आगे बताया कि इन खातों की जानकारी पैन होल्डर की इ-फाइलिंग विंडो पर जारी कर दी गयी है। पैन होल्डर वेबसाइट की लिंक 'कैश ट्रांसेक्शन 2016' पर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

जारी की गयी रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि करदाता अपना स्पष्टीकरण ऑनलाइन जमा कर सकते है। इनकम टैक्स ऑफिस में आना जरुरी नहीं है। पहचान किये गए लोगों को ईमेल और एसएमएस के जरिये जानकारी दे दी गयी है।

आयकर विभाग पहले ही कह चुका है कि नोटबंदी के बाद से लेकर अब तक 23 हजार करोड़ रुपये से भी ज्यादा अघोषित आय का पता चला है, वहीं नोटबंदी के बाद से लेकर अब तक करदाताओं की संख्या 91 लाख बढ़ गयी है।

और पढ़े: RBI गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा- नोटबंदी के बाद जमा नोटों की गिनती अभी तक नहीं

और पढ़े: जून में थोक मूल्य सूचकांक में गिरावट, 0.9% पहुंची WPI

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो