ICC Champions Trophy 2017: विराट कोहली की इन गलतियों की वजह से भारत को मिली हार

By   |  Updated On : June 19, 2017 09:34 AM
भारतीय क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली

भारतीय क्रिकेट टीम कप्तान विराट कोहली

नई दिल्ली:  

भारत और पाकिस्तान के बीच हुए मुकाबले में भारत को करारी हार का सामना करना पड़ा है। टीम इंडिया के सभी धुरंधर बल्लेबाज एक के बाद एक पाकिस्तानी बॉलर्स के सामने लड़खड़ाते नजर आए। पाकिस्तान ने भारत को 180 रनों से हराया है।

टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली की कमजोर कप्तानी इस मैच के हार का मुख्य कारण दिखाई दे रही है। रणनीति में चूक और एक के बाद एक फेलियर डिसीजन भारत को लगातार हार के और करीब ले जा रहे थे। लेकिन, कप्तान विराट कोहली लगातार ही गलतियां दोहरा रहे थे।

हार के कारणों की बात करें तो मुख्य रूप से इन पॉइंट्स के कारण भारत को हार का मुंह देखना पड़ा-

और पढ़ें: भारत को 180 रनों से हराकर पाकिस्तान पहली बार बना चैम्पियन

1. गेंदबाजी में कप्तान कोहली ने ज्यादा मौके उन गेंदबाजों को दिए जो कि विकेट लेने और रन रोकने दोनों में नाकाबिल साबित हुए। इसमें आर अश्विन और जसप्रीत बुमराह को बार-बार मौका दिया गया।

2. आर अश्विन को एक दिन पहले ही प्रैक्टिस के दौरान चोट लग गई थी। उनका आज खेलना भी तय नहीं था इसके बाद भी विराट कोहली ने उनके ऊपर भरोसा कायम रखा और प्ले 11 में सामिल किया। आर अश्विन ने 10 ओवर रन फेंके जिसमें उन्होंने 7 के एवरेज से 70 रन पाकिस्तान को दिए।

और पढ़ें: फाइनल में ट्यूबलाइट बनें भारतीय गेंदबाज आर अश्विन-बुमराह, जाने कहां की गलतियां

3. जसप्रीत बुमराह टीम इंडिया के लिए सबसे ज्यादा महंगे बॉलर साबित हुए। बुमराह के ओवर्स में लगातार रनों की बारिश हो रही थी। पाकिस्तान के बैट्समेन उन्हें आसानी से खेल पा रहे थे। इसके बाद भी उन्हें लगातार मौके दिए गए। बता दें कि बुमराह ने 9 ओवर में 7.55 की औसत से 68 रन दिए वो भी बिना किसी विकेट के लिए।

4. विराट कप्तानी में खेल रहे टीम इंडिया में पिछले मैच में केदार जाधव खासे काम आए थे। लेकिन, इसके बावजूद इस मैच में कप्तान विराट कोहली ने उन्हे काफी देर बाद याद किया। उन्होंने मैच में 39वें ओवर में महज 7 रन दिए। जबकि 43 वें ओवर में 4 रन देकर 1 विकेट भी अपने नाम किया। इसके बाद 45वें ओवर में उन्होंने 16 रन दिए।

और पढ़ें: पाकिस्तान ने भारत को दी पटखनी, ट्विटर पर नाराज हुए फैंस

5. कुछ मैच एक्सपर्ट्स ने कहा है कि ऐसी स्थिति में कप्तान कोहली को गेंदबाजी चेंज की ओर ध्यान देना चाहिए था। ऐसे मौकों पर युवराज को सामने लाया जा सकता था। लेकिन कप्तान ने यह रिस्क भी नहीं ली।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे