कभी-कभी बच्चों का अपना एजेंडा होता है: करन जौहर

  |   Updated On : December 21, 2017 10:04 PM
फिल्मकार करन जौहर अपने बच्चों के साथ (फाईल फोटो)

फिल्मकार करन जौहर अपने बच्चों के साथ (फाईल फोटो)

नई दिल्ली:  

फिल्मकार करन जौहर का मानना है कि कभी-कभी बच्चों को अकेले रहने का मन करता है और उनका अपना एजेंडा हो सकता है। यहां आध्यात्मिक नेता दादा जे.पी. वासवानी के 100वें जन्मदिन के लिए उपस्थित हुए करन ने माता-पिता और बच्चों के बीच संबंधों के बारे में चर्चा की।

उन्होंने इस वर्ष के मध्य में जुड़वा बच्चे रूही और यश का स्वागत किया था।

करन ने कहा, 'माता-पिता को अपने बच्चों के लिए स्वतंत्रता और सब कुछ चाहिए। कभी-कभी बच्चों का खुद का एजेंडा होता है। वे अपने माता-पिता के साथ अपना पूरा समय व्यतीत करना नहीं चाहते।'

 

Karen Johar with his kids. #karanjohar #karan #yashjohar #yash #roohijohar #roohi

A post shared by Filmy adda (@filmyaddaa) on Dec 21, 2017 at 7:06am PST

और पढ़ेें: BARC TRP ratings: 'कुंडली भाग्य' नंबर 1 की कुर्सी पर बरकरार, 'बिग बॉस' भी छाया

उन्होंने कहा कि प्रत्येक माता-पिता का कर्तव्य है कि वे अपने बच्चों को समय दें। जब माता-पिता बच्चे को समय नहीं देते और उनके मन को नहीं समझते, तो बच्चे भी उनके साथ ऐसा ही करते हैं।

करन 'ड्राइव', 'राजी', 'केसरी' और 'ब्रह्मास्त्र' जैसी फिल्मों का निर्माण करेंगे।

और पढ़ेें: Live updates: विराट-अनुष्का के रिसेप्शन में पहुंचे पीएम मोदी, देखें विडियो, फोटो

RELATED TAG: Karan Johar, Yash, Roohi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो