चीनी इंटरनेट का नेपाल ने शुरू किया इस्तेमाल, भारत पर निर्भरता खत्म

  |   Updated On : January 13, 2018 07:47 AM
नेपाल और चीन (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नेपाल और चीन (प्रतीकात्मक तस्वीर)

New Delhi:  

भारत के बाद अब नेपाल ने चीन से भी इंटरनेट की सुविधा ली है। शुक्रवार से हिमालय पर्वत पर बिछी चीन की ऑप्टिकल फाइबर के जरिए नेपाल ने अपने कुछ जगहों पर इंटरनेट सुविधा मुहैया कराई है।

यह कदम इसलिए अहम है क्योंकि इस नए इंटरनेट प्रोवाइडर के जरिए अब नेपाल की भारत पर इंटरनेट की निर्भरता खत्म हो गई है।

जानकारी के मुताबिक रसुवागढ़ी सीमा के माध्यम से चीनी फाइर लिंक द्वारा मिलने वाली इंटरनेट की प्रारंभिक स्पीड 1.5 गीगाबाइट प्रति सेकंड (जीबीपीएस) होगी, यह भारत से मिलने वाली स्पीड से कम है।

और पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के नस्लभेदी टिप्पणी पर भड़का संयुक्त राष्ट्र संघ

भारत इससे पहले बीरतनगर, भैरहवा और बीरगंज के माध्यम से नेपाल के लिए 34 जीबीपीएस की स्पीड मुहैया कर रहा है। अधिकारियों के मुताबिक हिमालय पर्वतों में चीन के ऑप्टिकल फाइबर लिंक का वाणिज्यिक परिचालन शुरू हो गया है।

शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान नेपाल के सूचना एवं संचार मंत्री मोहन बहादुर बासनेत ने नेपाल-चीन सीमा पर ऑप्टिकल फाइबर लिंक का उद्घाटन किया है।

साल 2016 में सरकारी कंपनी नेपाल टेलीकॉम ने चाइना की सरकारी कंपनी चाइना टेलीकम्यूनिकेशन के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए थे।

और पढ़ें: अमेरिका ने जारी की एडवाइज़री, नागरिकों को रूस जाने से किया मना

RELATED TAG: Nepal, China, Chinese Internet Nepal, Internet Nepal, India, Monopoly Ends, Monopoly,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो