Breaking
  • पीएम नरेंद्र मोदी लंदन से जर्मनी पहुंचे, एंजेला मर्केल के साथ करेंगे डिनर
  • CBI ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पोक्सो कोर्ट में किया पेश, सात दिन की बढ़ाई कस्टडी
  • IPL 2018 CSK Vs RR: राजस्थान रॉयल्स ने जीता टॉस, गेंदबाजी का फैसला
  • कश्मीरी युवक एनडीए एक्जाम पास करने के बाद हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल
  • महाभियोग से न्यायपालिका को डराने की कोशिश कर रही कांग्रेस
  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट
  • कर्नाटक चुनाव: मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने चमुंदेश्वरी विधानसभा से नामांकन दाखिल किया
  • कांग्रेस ने CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव का नोटिस उप राष्ट्रपति को सौंपा
  • नरोदा पटिया दंगा मामला: गुजरात HC ने पीड़ितों की मुनाफा मांगने की अपील को खारिज किया
  • भारत के श्रीमंत झा ने एशियाई आर्मरेसलिंग चैंपियनशिप के 80 किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता
  • नरोदा पाटिया दंगा मामला: माया कोडनानी को गुजरात HC ने बरी किया, बाबू बजरंगी की सजा बरकरार
  • SC ने महाभियोग को लेकर हो रही मीडिया रिपोर्टिंग पर बैन की मांग पर अटॉनी जनरल 7 मई तक देंगे राय
  • चीफ जस्टिस के खिलाफ महाभियोग की चर्चा को सुप्रीम कोर्ट ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

'क्यों हमेशा महिलाएं कराएं नसबंदी', केरल की इस शख्स की फेसबुक पोस्ट वायरल

  |   Updated On : April 07, 2018 11:17 PM

केरल:  

परिवार नियोजन अपनाने के डॉक्टर्स महिला व पुरूष दोनों को नसबंदी कराने की सलाह देते हैं। हालांकि ज्यादातर देखा गया है कि पुरूषों की तुलना में महिलाएं ही नसबंदी कराती है। लेकिन केरल पलक्कड़ में रहने वाले हबीब ने एक नई मिसाल कायम की है।

दरअसल परिवाप नियोजन के लिए हबीब ने नसबंदी करा ली है। और उन्होंने फेसबुक पर इस बारे में एक पोस्ट लिखी जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

हबीब ने फेसबुक पोस्ट में पुरुष नसबंदी (वैसेकटमी) और महिला नसबंदी (ट्यूबेकटमी) बीच अंतर और जटिलताओं के बारे में विस्तार से बताते हुए सवाल उठाया कि 'क्यों हमेशा महिलाओं पर ही परिवार नियोजन की जिम्मेदारी डाल दी जाती है?'

हबीब ने महिला नसबंदी के मुकाबले पुरुष नसबंदी को बेहद आसान करार दिया।

हबीब ने पोस्ट में बताया कि महिला नसबंदी पुरुष नसबंदी के मुकाबले जटिल और ज्यादा खर्च वाली होती है। उन्होंने बताया कि महिला नसबंदी में बड़ा ऑपरेशन होता है, इसके लिए जनरल एनेस्थेसिया (बेहोशी की दवा) दी जाती है और सही होने में हफ्ता भर लगता है। इसमें संक्रमण और जटिलताओं की संभावना ज्यादा होती है।

हबीब का कहना है कि पुरूष नसबंदी कराने में उन्हें केवल 20 मिनट ही लगे।

उन्होंने पोस्ट में आगे लिखा- 'हमने तय किया था कि अगर बच्चे की डिलीवरी के लिए अंजू की सर्जरी हुई तो उसकी नसबंदी करा दूंगा। नहीं तो मैं नसबंदी करा लूंगा।'

खबर लिखे जाने तक हबीब की पोस्ट को 558 लोग शेयर कर चुके थे। वहीं दो हजार से जयादा यूजरों ने उनकी पोस्ट को लाइक किया था। वहीं 200 से ज्यादा लोगों ने कमेंट कर तारीफ की है।

इसे भी पढ़ें: भारत में महिलाएं एनीमिया और पुरुष डायबिटीज से सबसे ज्यादा पीड़ित

RELATED TAG: Kerala Man Vasectomy Post Viral,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो