आईबी का अलर्ट- मोदी और योगी पर हो सकता है बम से हमला, नेपाल के रास्ते घुसे 20-25 आतंकी

By   |  Updated On : July 15, 2017 09:03 AM
पीएम मोदी और यूपी सीएम योगी पर खतरा

पीएम मोदी और यूपी सीएम योगी पर खतरा

ख़ास बातें
  •  आईबी ने इसी साल अप्रैल में भेजा था पीएम मोदी और सीएम योगी पर खतरे का अलर्ट
  •  यूपी विधानसभा में बुधवार को मिला था PETN विस्फोटक
  •  आईबी का दावा, हिंदू रीति रिवाजों की ट्रेनिंग के साथ साधु के रूप में नेपाल के रास्ते घुसे आतंकी

नई दिल्ली:  

इंटेलिजेंस ब्यूरो ने इसी साल अप्रैल में भेजे अलर्ट पर एक बार फिर रिमाइंडर भेजते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमले की आशंका जताई है।

आईबी ने अलर्ट में कहा है पीएम मोदी और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के निशाने पर हैं। इसी हफ्ते की शुरुआत में अमरानाथ यात्रियों पर हमला और फिर उत्तर प्रदेश विधानसभा में विधायकों की कुर्सी के नीचे मिले विस्फोटक की सनसनीखेज खबर के बाद आईबी का यह अलर्ट आया है।

भारत की खुफिया एजेंसी की मुंबई शाखा ने राज्य सरकार को अगाह करते हुए कहा कि सीएम योगी पर बम से हमले की साजिश रची गई है।    

यह भी पढ़ें: RSS चीफ मोहन भागवत को आतंकियों की सूची में डालना चाहती थी मनमोहन सरकार, निजी चैनल का दावा

इस चेतावनी में साफ कहा गया है कि लश्कर आतंकी पीएम मोदी और सीएम योगी पर बम से हमले की कोशिश में हैं। यही नहीं, आतंक के इस खेल में पाकिस्तान के लश्कर का साथ देने की बात भी आईबी ने कही है।

आईबी रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI ने हिंदू रीति रिवाजों का प्रशिक्षण देकर कई एजेंटों को हिंदू आबादी में घुसाने के लिए अपने पुराने ऑपरेशन 'कृष्णा इंडिया' को फिर से शुरु किया है।

यह भी पढ़ें: अमरनाथ हमला: पीडीपी विधायक का ड्राइवर हिरासत में, पूछताछ जारी

अलर्ट के मुताबिक यूपी में किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए ये आतंकी भगवा चोले को ढाल की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं और धार्मिक जगहों और कार्यक्रमों को अपना निशाना बना सकते हैं।

पाकिस्तानी आतंकी संगठन ने किशोर उम्र के लड़कों को साधु, नागा और तांत्रिक के वेश में प्रशिक्षित कर नेपाल के रास्ते यूपी में भेज भी दिया है।

यह लोग प्रमुख धार्मिक स्थलों के अलावा प्रतिष्ठित संस्थानों को भी निशाना बनाने की तैयारी में हैं। इंटेलिजेंस से मिले इनपुट के मुताबिक, आतंकी वारदात के लिए यूपी में भेजे गए युवा 17-18 साल के हैं और इनकी संख्या 20 से 25 हो सकती है। यह आतंकी साधु संतों व तांत्रिकों के वेश में रह रहे हैं।

इन लोगों को हिंदू धर्म के रीति-रिवाजों की ट्रेनिंग दी गई है ताकि ये आसानी से लोगों से घुल-मिल सकें और धार्मिक संस्थानों में भी आसानी से घुसपैठ कर सकें।

यह भी पढ़ें: SEE PICS: जुड़वा बच्चों के जन्म देने से पहले देखें बेयोंस की ये आकर्षक तस्वीरें

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो