Breaking
  • मोदी सरकार की नीतियों पर बोले राहुल, कहा- चीन से मुकाबले के लिए अभी और काम की ज़रुरत -Read More »
  • भूकंप से मेक्सिको में तबाही, मृतकों की संख्या बढ़कर 139 हुई -Read More »

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- देशवासियों के सपनों के लिए जिऊंगा और मरूंगा

By   |  Updated On : September 17, 2017 08:36 PM
सरदार वल्लभ भाई पटेल को श्रद्धांजलि देते पीएम मोदी (फोटो:ट्विटर)

सरदार वल्लभ भाई पटेल को श्रद्धांजलि देते पीएम मोदी (फोटो:ट्विटर)

नई दिल्ली :  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 67वें जन्मदिन पर 138 मीटर ऊंची अपनी महात्वकांक्षी अंतर-राज्यीय सरदार सरोवर बांध परियोजना का रविवार को उद्घाटन किया।

उन्होंने 'न्यू इंडिया' के निर्माण के लिए इसे अपना मिशन बताते हुए कहा, 'मैं आपके सपनों के लिए जिऊंगा, आपके सपनों के लिए मरूंगा।'

प्रधानमंत्री ने बीजेपी द्वारा आयोजित नर्मदा महोत्सव को संबोधित करते हुए कहा, 'आज एक सपना हकीकत में बदला है, जिसे सरदार पटेल ने मेरे और हम में से कई लोगों के पैदा होने के पहले पश्चिम भारत के राज्यों में जल संकट खत्म करने के लिए देखा था।'

उन्होंने कहा कि भारत में बस दो महापुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल और बाबा साहेब अंबेडकर थे और अगर वे कुछ साल और जिंदा रहते तो पश्चिमी राज्यों को पहले ही पानी उपलब्ध हो जाता और भारत पहले ही प्रगति के रास्ते पर बढ़ रहा होता।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकारें योजनाएं तैयार करती हैं और लागू करती हैं और कुछ योजनाओं को समस्या का सामना भी करना पड़ता है, लेकिन मां नर्मदा ही एक ऐसी हैं, जिन्हें कई बाधाओं का सामना करना पड़ा।

एक समय पूरी दुनिया इस परियोजना के खिलाफ हो गई थी और विश्व बैंक ने पर्यावरण के बहाने कर्ज रोकने का फैसला भी कर लिया, लेकिन गुजरात के लोग मजबूती के साथ खड़े रहे।

मोदी ने कहा, 'यह मेरे लिए भावुक पल है। मैं अपना जन्मदिन नहीं मनाता हूं, लेकिन आज विश्वकर्मा जंयती है और आज एक बेटे को लाखों माताओं का आशीर्वाद मिल रहा है। यह एक सरकारी कार्यक्रम नहीं है, यह बीजेपी का एक समारोह नहीं है, यह लोगों का जश्न है।'

षड्यंत्र के बावजूद सरदार सरोवर बांध बनाया, विश्व बैंक ने खींच लिया था हाथ: पीएम मोदी

'गुजरात की जीवनरेखा' कहे जा रहे इस बांध की ऊंचाई हाल ही में बढ़ाकर 138.68 मीटर की गई है और इसकी जल संग्रह क्षमता 47.3 लाख एकड़ फीट है।

इस बांध से गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र को लाभ मिलने की उम्मीद है। साथ ही नर्मदा बांध पर हाइड्रो पावर परियोजना 1,450 मेगावाट बिजली उत्पादन भी होगा।

गुजरात सरकार के मुताबिक, बांध के जरिए राज्य में पीने के पानी की 8,221 गांवों, 159 कस्बों और आठ शहरों में आपूर्ति की जाएगी। 30,000 हेक्टेयर में बाढ़ नियंत्रण के लाभ के साथ नर्मदा बांध के पानी से 3,125 गांवों के 17.92 लाख हेक्टेयर भूमि की सिंचाई की जाएगी।

कुल मिलाकर 10 लाख किसानों को सिंचाई का लाभ मिलेगा और चार करोड़ लोगों को पीने के पानी की आपूर्ति होगी।

देश को मिला दुनिया का दूसरा बड़ा बांध, सरदार सरोवर बांध से 4,000 करोड़ यूनिट बिजली का होगा उत्पादन

उधर, सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई बढ़ाए जाने से मध्यप्रदेश की नर्मदा घाटी के गांवों में रह रहे 40 हजार परिवारों के घर डूब रहे हैं। उनके हक की लड़ाई लड़ रहीं नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर का जल सत्याग्रह रविवार को तीसरे दिन भी जारी है।

उनका कहना है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुजरात के चुनाव में बीजेपी को लाभ पहुंचाने के लिए मध्यप्रदेश के हजारों परिवारों की जिंदगी दांव पर लगा दिया है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है।

नर्मदा घाटी का दौरा करने के बाद सीपीआईएम की पूर्व सांसद सुभाषिणी अली ने गुजरात में मनाए जा रहे जश्न पर मोदी को 'आधुनिक नीरो' की उपाधि दी है।

1961 में नेहरू ने रखी सरदार सरोवर डैम की नींव, 2017 में पीएम मोदी ने किया देश को समर्पित

RELATED TAG: Pm Modi 67th Birthday, Narmada Dam, Sardar Sarovar Dam, Gujarat,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो