Breaking
  • इंफोसिस के शेयरों की जबरदस्त पिटाई से लुढ़का सेंसेक्स और निफ्टी -Read More »
  • विमान रद्द किए जाने की ख़बर को इंडिगो ने किया ख़ारिज़
  • इंजन खराबी को लेकर इंडिगो ने रद्द किए 84 फ्लाइट्स -Read More »
  • गोरखपुर हादसे पर इलाहाबाद हाई कोर्ट में 29 अगस्त को होगी अगली सुनवाई
  • सुप्रीम कोर्ट ने दिया कार्ति चिदंबरम को CBI के समक्ष पेश होने का आदेश -Read More »
  • नारायणमूर्ति को जिम्मेदार बताते हुए सिक्का ने इंफोसिस से दिया इस्तीफा, पढ़ें पूरा लेटर -Read More »
  • जन्मदिन विशेष: 'गुलज़ार', ज़िंदगी के एहसास को नज़्मों में पिरोने वाला शख़्स -Read More »
  • इंफोसिस के सीईओ और एमडी पद से विशाल सिक्का का इस्तीफा -Read More »
  • स्पेन: बार्सिलोना आतंकी हमले में 13 लोगों की मौत, जवाबी कार्रवाई में 4 आतंकी ढेर, ISIS ने ली जिम्मेदारी

लखनऊः केजीएमयू हॉस्पिटल में लगी आग, आठ लोग मरे

By   |  Updated On : July 16, 2017 08:40 AM

नई दिल्ली:  

केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में शनिवार शाम आग लग गई। आग लगने के कारण आठ मरीजों की मौत हो गई है। मरने वालों में से छह बच्चे शामिल हैं। बताया जा रहा है कि दूसरे फ्लोर के आपदा प्रबंधन वॉर्ड में शॉर्ट सर्किट से लगी आग ने तीसरे फ्लोर को भी अपनी चपेट में ले लिया।

घटना को लेकर केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर के एक अधिकारी एसएन संखवार ने बताया, 'मरीजों की मौत आग से झुलस कर नहीं हुई है। सभी की मौत शिफ्ट करने के दौरान हुई है।'

तेजी से फैली आग ट्रॉमा सेंटर तक पहुंच गई। मरीजों के परिजन अपने-अपने मरीज को लेकर बाहर भागे। बताया जा रहा है कि इनमें से कई मरीज वेंटिलेटर पर थे। मौत की खबर की अभी तक आधिकारिक पुष्टी नहीं हो पाई है।

घटना को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा, 'मैं इस घटना को लेकर यूपी के हेल्थ मिनिस्टर से बात हुई है। इस घटना को लेकर मैंने पूरी जानकारी ली है।'

आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की 10 गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। तकरीबन पांच घंटे बाद आग पर काबू पाया जा सका। बताया जा रहा है कि ट्रॉमा सेंटर में फायर फाइटिंग के लिए लगी कोई भी मशीन आग लगने के बाद काम नहीं कर पाई इस कारण फायर अलार्म भी नहीं बजा।

बताया जा रहा है कि शाम करीब सात बजे ट्रॉमा सेंटर के दूसरे फ्लोर पर अचानक लपटें उठने लगीं। आग बहुत तेजी से फैलते हुए तीसरे फ्लोर तक पहुंच गई। आग लगते ही परिजन अपने मरीजों को लेकर भागने लगे।

बताया जा रहा है कि मरीज में कई नवजाथ भी थे। ट्रॉमा के गेट से बाहर आते ही कई मरीजों की हालत बिगड़ने लगी। परिजनों ने कहा कि चौथे फ्लोर पर बने एनआईसीयू का नर्सिंग स्टाफ भर्ती नवजात बच्चों को अंदर ही छोड़ कर बाहर भाग गए।

सभी राज्यों की खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो