दार्जिलिंग हिंसा: पुलिस लाठीचार्ज में घायल जीजेएम कार्यकर्ता की मौत

By   |  Updated On : July 11, 2017 10:14 PM
दार्जीलिंग हिंसा में घायल जीजेएम कार्यकर्ता की मौत

दार्जीलिंग हिंसा में घायल जीजेएम कार्यकर्ता की मौत

दार्जिलिंग:  

पश्चिम बंगाल के उत्तरी पर्वतीय इलाके में पृथक गोरखालैंड की मांग के दौरान भड़की हिंसा में बीते शनिवार को गोरखा मुक्ति मोर्चा (जीजेएम) का एक कार्यकर्ता घायल हो गया था, जिसकी मंगलवार को सिक्किम एक अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी। दार्जिलिंग वासी अशोक तमांग आठ जुलाई को दार्जिलिंग में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प के दौरान कथित तौर पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज में घायल हो गया था।

तमांग को सिक्किम के टाडोंग कस्बे में स्थित मनिपाल सीआरएच अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

अस्पताल के एक सूत्र ने बताया, 'मंगलवार की सुबह तमांग की गहरे जख्मों के चलते मौत हो गई। उसका शव दार्जिलिंग के लुइस जुबिली कस्बे में स्थित उसके घर पहुंचा दिया गया है।'

और पढ़ेंः दार्जिलिंग- बशीरहाट पर ममता बोलीं केंद्र का नहीं मिला सहयोग, गोरखालैंड के लिए फिर हिंसा के बाद सेना तैनात

पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर महीने भर से चल रही अस्थिरता के बीच बीते शनिवार को अचानक फिर से हिंसा भड़क उठी तथा जीजेएम के कार्यकर्ताओं ने जमकर उपद्रव किया, एक रेलवे स्टेशन सहित कई सरकारी कार्यालयों में आगजनी की।

पृथक गोरखालैंड की मांग का नेतृत्व कर रहे स्थानीय गैर-मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल जीजेएम ने पुलिस पर अपने कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने हालांकि इससे इनकार किया है।

जीजेएम द्वारा बुलाई गई अनिश्चितकालीन हड़ताल के चलते इस पर्वतीय इलाके में लगातार 27 दिनों से जन-जीवन अस्त व्यस्त है।

और पढ़ेंः डार्क चॉकलेट से यूं निखारें अपनी त्वचा की खूबसूरती

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो