RBI ने रोकी 2000 रुपये के नोट की छपाई, SBI ने बताई ये वजह

  |   Updated On : December 21, 2017 06:42 AM
2.46 लाख करोड़ रुपये के 2000 के नोट RBI ने नहीं किए जारी (फाइल फोटो-PTI)

2.46 लाख करोड़ रुपये के 2000 के नोट RBI ने नहीं किए जारी (फाइल फोटो-PTI)

नई दिल्ली:  

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने आठ दिसंबर तक उच्च मूल्य के कुल 15,78,700 करोड़ रुपये की नकदी छापी थी, लेकिन उसमें से 2,46,300 करोड़ रुपये की नकदी बाजार में जारी ही नहीं की गई। सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने बुधवार को यह जानकारी दी।

सरकार और आरबीआई के आंकड़ों के आधार पर एसबीआई ने अपने शोध पत्र 'क्या 2,000 रुपये के उच्च मूल्य के नोट को वापस रखा गया?' में कहा कि पिछले साल की गई नोटबंदी के बाद इस साल आठ दिसंबर तक 2,46,300 करोड़ रुपये मूल्य के उच्च मूल्य वाले नोटों को प्रचलन में भेजा ही नहीं गया।

एसबीआई की मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) सौम्य कांति घोष ने एसबीआई इकोफ्लैश रिपोर्ट में कहा, 'वित्त मंत्रालय द्वारा लोकसभा में दी गई जानकारी के अनुसार, आरबीआई ने आठ दिसंबर तक 500 रुपये के कुल 1695.7 करोड़ नोट और 2,000 रुपये के कुल 365.4 करोड़ नोट छापे थे। इन नोटों का कुल मूल्य 15,787 अरब है।'

आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक, साल 2017 के मार्च तक छोटे मूल्य के कुल 3,50,100 करोड़ नोट प्रचलन में थे।

एसबीआई ने कहा, 'इसका तात्पर्य यह है कि आठ दिसंबर तक उच्च मूल्य के सभी नोटों का मूल्य 13,324 अरब था। इसका मतलब यह है कि आरबीआई ने 2,463 अरब के उच्च मूल्य को नोट को बाजार में भेजे ही नहीं।'

और पढ़ें: गुजरात को मोदी सरकार का तोहफा, वडोदरा में बनेगा पहला रेल यूनिवर्सिटी

रिपोर्ट में कहा गया, 'इसका तार्किक कारण यह है कि नोटबंदी के बाद लोगों को उच्च मूल्य वाले नोट को भंजाने में परेशानी हो रही थी, इसलिए हो सकता है कि आरबीआई ने जानबूझकर 2,000 रुपये के नोट की छपाई बंद कर छोटे नोटों की शुरू कर दी और प्रचलन में उच्च मूल्य के नोटों को नहीं भेजा।'

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्तमान में प्रचलन में जितने नोट हैं, उनमें छोटे मूल्य के नोट की हिस्सेदारी 35 फीसदी है।

और पढ़ें: हनीमून से लौटे विरूष्का, पीएम नरेंद्र मोदी से की मुलाकात

RELATED TAG: Sbi, Report, Rbi 2000 Notes,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS ओर Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो