आनंदपाल एनकाउंटर: हिंसक प्रदर्शन में 21 पुलिसकर्मी घायल, दो AK-47 लेकर भागे उपद्रवी

By   |  Updated On : July 13, 2017 11:33 AM
विरोध प्रदर्शन (फाइल)

विरोध प्रदर्शन (फाइल)

नई दिल्ली:  

राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल सिंह की एनकाउंटर में मारे जाने के बाद जयपुर समेत कई इलाकों में राजपूत समाज उग्र प्रदर्शन कर रही है। इन प्रदर्शनों के चलते नागौर के सांवराद गांव में हालात बदतर हो गए हैं। यहां पर पुलिस ने कर्फ्यू लगाया दिया है।

गांव में प्रदर्शन के दौरान हुई झड़प के बाद 21 पुलिसकर्मी और 7 युवक गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घायलों में से 19 को जयपुर रेफर किया गया है। पुलिस ने 4 राजपूत नेताओं को हिरासत में लिया है। साथ ही अफवाहें न फैले इसके लिए पुलिस ने इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी है।

पुलिस ने बताया कि इस दौरान प्रदर्शन के बीच उपद्रवी दो जवानों की एके 47 और 2 अन्य हथियार लेकर भाग गए है। पुलिस ने प्रदर्शनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए 4 जिलों में धारा 144 लगा दी है।

और पढ़ें: राजपूतों की भीड़ ने पुलिस गाड़ी को किया आग के हवाले, चार जिलों में धारा 144 लागू

बता दें कि बुधवार को राजस्थान के नागौर में आनंदपाल सिंह समर्थकों ने हिंसक प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने पुलिसकर्मियों पर अटैक किया और उनके वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस को भीड़ काबू करने के लिए कई राउंड फायरिंग भी करनी पड़ी थी।

सीबीआई जांच की मांग

प्रदर्शनकारी आनंदपाल सिंह एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। आनंदपाल के परिवार और राजपूत समाज का कहना है कि आनंदपाल का एनकाउंटर फर्जी है। इसकी सीबीआई जांच हो।

राजस्थान के चूरू जिले के मालेसर में 24 जून को पुलिस ने आनंदपाल को मार गिराया था। घटना के इतने दिनों बाद भी परिजनों ने शव का अंतिम संस्कार नहीं किया है। आनंदपाल के शव को डीप फ्रीजर में रखा हुआ है।

और पढ़ें: बडगाम एंकाउंटर में डीएसपी अयूब पंडित हत्या में शामिल एक आतंकी मारा गया

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो