BREAKING NEWS
  • उत्‍तराखंड-अरुणाचल में राष्‍ट्रपति शासन को लेकर मोदी सरकार की हो चुकी है फजीहत- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »
  • Horoscope, 13 November: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 13 नवंबर का राशिफल- Read More »

बेशर्म पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग, कहा- संयुक्त राष्ट्र बातों से आगे बढ़कर इस मुद्दे पर करे ठोस काम

आईएनएस  |   Updated On : September 09, 2019 06:53:10 PM
पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी

पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  पाकिस्तान ने कहा, संयुक्त राष्ट्र को कश्मीर मुद्दे पर कुछ करने की जरूरत है
  •  कश्मीर की समस्या फिलिस्तीन की समस्या जैसी है
  •  दोनों संयुक्त राष्ट्र एजेंडे की पुरानी समस्याएं हैं

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान (Pakistan) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. वो लगातार कश्मीर राग अलाप रहा है. हालांकि उसके इस 'बेसुरे' राग को कोई सुन नहीं रहा है. एक बार फिर से पाकिस्तान ने कश्मीर को लेकर बयान दिया है. संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र को 'कश्मीर मामले में केवल बातें करने के बजाए कुछ और अधिक करने की' जरूरत है.

'यूएस टीवी' को दिए गए एक साक्षात्कार में लोधी ने यह बात कही. उन्होंने कहा कि कश्मीर की समस्या फिलिस्तीन की समस्या जैसी है. यह दोनों संयुक्त राष्ट्र एजेंडे की पुरानी समस्याएं हैं.

इसे भी पढ़ें:इमरान सरकार का आतंकी चेहरा बेनकाब, घुसपैठ करते मारे गए BAT जवान और आतंकी, सामने आया VIDEO

पाकिस्तानी राजदूत ने कश्मीर के बारे में पुराने आरोपों को दोहराया. उनका जोर यह साबित करने पर रहा कि कश्मीर में भारत द्वारा आम नागरिकों पर अत्याचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस बात की जरूरत है कि 'अपना भविष्य खुद चुनने के लिए कश्मीरियों को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के अनुरूप आत्मनिर्णय का अधिकार दिया जाए.'

और पढ़ें:पाक अधिकृत कश्मीर का सबसे आखिरी शहर है चकोटी, जानिए कितनी है आबादी

भारत के साथ परमाणु युद्ध की संभावना के बारे में पूछे जाने पर लोधी ने कहा कि 'पाकिस्तान एक जिम्मेदार परमाणु हथियार संपन्न देश है और किसी तरह का युद्ध नहीं चाहता.' यह कहने के साथ ही उन्होंने परोक्ष रूप से चेतावनी देते हुए कहा कि 'एक बहुत बड़ा संकट पैदा हो जाए, इससे पहले ही अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को मामले में दखल देने की जरूरत है.'

First Published: Sep 09, 2019 06:53:10 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो