लंदन कोर्ट में भगोड़े नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज, 29 मार्च तक हिरासत में रहेगा

News state Bureau  |   Updated On : March 20, 2019 08:41:23 PM

नई दिल्‍ली:  

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के 13,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी कर देश से फरार हुए हीरा कारोबारी नीरव मोदी को लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया है. नीरव को लंदन की वेस्टमिंस्टर अदालत में 11:20 बजे (स्थानीय समयानुसार) पेश किया गया. नीरव मोदी ने कोर्ट में जमानत के लिए आवेदन किया लेकिन कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया. कोर्ट ने कहा कि उसे 29 मार्च तक हिरासत में रहना पड़ेगा. जमानत याचिका खारिज होने के बाद नीरव मोदी को लंदन के वर्ड्सवर्थ एचएम जेल भेजा गया है. अदालत में पेश किए जाने के बाद नीरव ने कोर्ट के सामने कहा, 'मैंने पूरा सहयोग दिया है, टैक्स जमा किया है और यात्रा के दस्तावेज जमा किए हैं.' इस मामले की अगली सुनवाई चीफ मजिस्ट्रेट के सामने 29 मार्च को होगी.

नीरव मोदी की गिरफ्तारी के बाद ED ने कहा कि हमारी लीगल टीम लंदन में मौजूद है. ईडी ने यह भी कहा कि मेहुल चोकसी के खिलाफ भी कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था. अदालत ने भारत के प्रवर्तन निदेशालय (ED) के अनुरोध पर यह वारंट जारी किया था. कुछ दिनों पहले ही ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) ने कहा था कि ब्रिटिश गृह विभाग ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण से जुड़े भारत के अनुरोध को एक अदालत के पास भेज दिया गया है, ताकि इस संबंध में कानूनी कार्रवाई हो सके.

भारत ने ब्रिटेन सरकार से पिछले साल अगस्त में ही उसके प्रत्यर्पण के लिए अनुरोध किया था. नीरव मोदी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी होने के बावजूद वह लंदन में रह रहा था. नीरव का पासपोर्ट फरवरी 2018 में रद्द कर दिया गया था.

हाल ही में नीरव मोदी के प्रत्यक्ष रूप से लंदन में होने की बात सामने आई थी, जहां वह कई महीनों से रह रहा है. अंग्रेजी अखबार 'द टेलीग्राफ' द्वारा जारी वीडियो में नीरव मोदी मूंछों और लंबे बालों के साथ अलग लुक के साथ लंदन की सड़कों पर चहलकदमी करते नजर आ रहा था. वीडियो में नीरव मोदी हर सवाल से बचता और 'नो कमेंट' कहता नजर आ रहा है.

पिछले दिनों लंदन के 'द टेलीग्राफ' की रिपोर्ट में कहा गया था कि नीरव मोदी लंदन के वेस्ट एंड इलाके में रह रहा है और यहां तक कि उसने हीरे का नया कारोबार भी शुरू कर लिया है. इससे पहले नीरव मोदी के न्यूयॉर्क, हांगकांग व दुनिया के अन्य हिस्से में देखे जाने के बाद से उसके ठिकाने के बारे में रहस्य बना हुआ था.

नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले का भंडाफोड़ होने से कुछ दिनों पहले जनवरी, 2018 में फरार हो गया था. यहां तक कि जांचकर्ताओं ने जब पीएनबी मामले की जांच की तो पता चला कि नीरव मोदी व उसके मामा मेहुल चोकसी ने 'लेटर्स ऑफ अंडरटेकिंग' का इस्तेमाल कर पीएनबी से 13,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की थी.

प्रवर्तन निदेशालय ने मामले में जारी जांच के सिलसिले में 26 फरवरी को नीरव मोदी और उसकी सहयोगी कंपनियों की 147 करोड़ रुपये की संपत्तियां जब्त की थीं.

First Published: Mar 20, 2019 02:57:08 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो