BREAKING NEWS
  • उबर ड्राइवर का यह Viral Video आपने देखा क्‍या? नहीं तो अभी देखें...- Read More »
  • चीन (China) की अर्थव्यवस्था (Economy) हुई धराशायी, भारत को मिल सकता है बड़ा फायदा- Read More »
  • Say No To Long Kurti, कॉलेज में छात्राओं ने लहराए पोस्‍टर- Read More »

पाकिस्‍तान के वैज्ञानिक ने फवाद चौधरी, आसिफ गफूर को लताड़ा, कही ये बड़ी बात

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : September 11, 2019 03:15:44 PM
पाकिस्‍तान के वैज्ञानिक को फवाद चौधरी, आसिफ गफूर को लताड़ा

पाकिस्‍तान के वैज्ञानिक को फवाद चौधरी, आसिफ गफूर को लताड़ा

नई दिल्‍ली :  

पाकिस्‍तान के एक वैज्ञानिक ने अपने ही देश के मंत्री फवाद चौधरी, शेख राशिद, पाकिस्‍तानी सेना के प्रवक्‍ता मेजर जनरल आसिफ गफूर को आड़े हाथों लेते हुए भारत के मिशन चंद्रयान से सीख लेने की नसीहत दी है. इन सभी ने भारत के मून मिशन का मजाक उड़ाया था. अब पाकिस्‍तानी अंतरिक्ष यात्री नमीरा सलीम और पाकिस्तान के वैज्ञानिक और पूर्व में विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री रह चुके डॉक्टर अता-उर-रहमान ने देश के नेताओं और सेना के प्रवक्‍ता को लताड़ लगाते हुए कहा कि इस्लामाबाद को भारत से सीखना चाहिए.

यह भी पढ़ें : ऊं या गाय सुनते ही कुछ लोगों के बाल खड़े हो जाते हैं, प्रधानमंत्री मोदी ने साधा विरोधियों पर निशाना

डॉ. अता-उर-रहमान ने ट्विटर पर चंद्रयान-2 पर तंज कसने वालों को नसीहत देते हुए कहा, भारत के चंद्र मिशन की 'असफलता' की आलोचना बहुत ही गलत है. लक्ष्य के इतने करीब आना अपने आप में बहुत बड़ी तकनीकी उपलब्धि है. पाकिस्तान उनसे दशकों पीछे है. भारत की असफलता पर जश्‍न मनाने की जगह हमें जागने और अंतर‍िक्ष विज्ञान के क्षेत्र में निवेश करने की जरूरत है. जागो पाकिस्तान.

एक टेलीविजन चैनल से बातचीत में डॉ. अता-उर-रहमान ने कहा, भारत के मिशन चंद्रयान-2 से पाकिस्तान को जागने की जरूरत है. भारत के चंद्रयान-2 को असफल नहीं कहा जा सकता. कई उन्नत तकनीक वाले देशों के भी मिशन असफल हुए हैं. रहमान ने कहा कि जो अंतिम समय तक प्रयास जारी रखता है, वह ही सफल होता है.

यह भी पढ़ें : ट्रैफिक पुलिस ने तो हद ही कर दी, 'भगवान राम' को भी नहीं छोड़ा

रहमान ने कहा कि भारत ठीक कर रहा है. हमें भी मंगल और चांद पर पहुंचने के लिए उनसे सीख लेनी चाहिए. हमें चांद पर जाने की कोशिशें सिर्फ इसलिए नहीं करनी चाहिए क्योंकि हम भारत की बराबरी करना चाहते हैं. हमें समझना चाहिए कि ऐसे परीक्षणों से तकनीक का विकास होता है.

First Published: Sep 11, 2019 02:24:33 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो