कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान ने भारत के बाद सऊदी अरब और यूएई के साथ किया दुस्साहस, कही ये बात

आईएएनएस  |   Updated On : September 13, 2019 06:31:45 AM
पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

पाकिस्तान में इस बात की चर्चा है कि सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्रियों ने हाल के पाकिस्तान दौरे में यह साफ किया कि पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे को भारत के साथ बातचीत से सुलझाना चाहिए और इसे 'मुसलमानों का मुद्दा नहीं बनाना चाहिए.' इस चर्चा ने इतना जोर पड़ा कि पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय को कहना पड़ा है कि इस आशय की तमाम रिपोर्ट व चर्चाएं 'काल्पनिक' हैं.

यह भी पढ़ेंः10 लाख कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, मोदी सरकार बढ़ा सकती है सैलेरी; जानें कब

कुछ ही दिन पहले पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार हामिद मीर ने कहा था कि उन्हें वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया है कि यूएई ने पाकिस्तान से कहा है कि वह कश्मीर के मुद्दे को मुसलमानों का मुद्दा न बनाए. अब इस चर्चा में सऊदी अरब का भी नाम जुड़ गया है.

पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने गुरुवार को कहा कि इस आशय की मीडिया रिपोर्ट काल्पनिक हैं कि सऊदी अरब और यूएई के विदेश मंत्रियों ने हाल में पाकिस्तान दौरे पर यह बात पाकिस्तानी नेतृत्व के सामने रखी कि उसे कश्मीर को मुस्लिम मुद्दा नहीं बनाना चाहिए. फैसल ने इन रिपोर्ट को खारिज करते हुए कहा कि दोनों मंत्रियों ने 'कश्मीर मामले में पाकिस्तान के साथ एकजुटता दिखाई और कश्मीर के प्रति अपना समर्थन जताया.'

यह भी पढ़ेंःपाकिस्तान के मंत्री ने फिर दी भारत को गीदड़भभकी, कहा, हो सकता है 'एक्सीडेंटल वार'

फैसल ने विदेश कार्यालय में मीडिया ब्रीफिंग के दौरान पूछे गए सवाल के जवाब में यह सफाई दी. एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए मध्यस्थता पर भी राजी है और द्विपक्षीय बातचीत पर भी. पाकिस्तान ने हमेशा बातचीत पर जोर दिया है, देखते हैं कि आगे क्या होता है. उन्होंने यह भी कहा कि 'भारत कश्मीर में मानवाधिकार के मुद्दे पर विश्व को गुमराह करना बंद करे और वहां से पाबंदियां हटाए.'

First Published: Sep 12, 2019 09:58:38 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो