नेपाल ने कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि की, पड़ोसी देश भारत भी अलर्ट पर

News State  |   Updated On : January 25, 2020 12:56:21 PM
नेपाल ने कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि की, पड़ोसी देश भारत भी अलर्ट पर

सांकेतिक चित्र (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

ख़ास बातें

  •  चीन में पढ़ रहा नेपाल का छात्र कोरोना वायरस की चपेट में आया.
  •  पड़ोसी देश भारत में भी इस वायरल को लेकर अलर्ट जारी है.
  •  अब तक भारत में 96 विमानों के 20 हजार यात्रियों की थर्मल जांच.

नई दिल्ली:  

नेपाल (Nepal) के स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्रालय ने कहा है कि चीन में पढ़ रहा नेपाल का एक छात्र नए कोरोना वायरस (Corona Virus) की चपेट में आ गया है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, मंत्रालय के तहत महामारी विज्ञान और रोग नियंत्रण प्रभाग में जूनोटिक और अन्य संचारी रोग नियंत्रण अनुभाग के प्रमुख डॉ. हेमंत चंद्र ओझा ने कहा, 'प्राणघातक विषाणु से संक्रमण (Infection) के पहले मामले की पुष्टि हुई है.' उन्होंने कहा कि चीन के वुहान से नेपाल आए छात्र का हांगकांग स्पेशल एडमिनिस्ट्रेटिव रीजन ऑफ चीन में विश्व स्वास्थ्य संगठन की लैब में परीक्षण किया गया, जो पॉजिटिव पाया गया.

यह भी पढ़ेंः निर्भया केसः अब जेल प्रशासन का बहाना बनाकर दोषी नहीं टाल पाएंगे फांसी, कोर्ट ने याचिका का किया निपटारा

चीन से आया था नेपाल
विषाणु से संक्रमित व्यक्ति चीन से पांच जनवरी को नेपाल आया था और 13 जनवरी को उसने अस्पताल जाकर सांस लेने में दिक्कत होने की शिकायत की. दवाई लेने से उसकी हालत में सुधार होने के बाद पिछले सप्ताह उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया था. पड़ोसी देश होने की वजह से भारत में इस वायरल को लेकर अलर्ट जारी है. हाल ही में चीन की यात्रा से लौटकर मुंबई आए तीन लोगों में से दो लोगों की टेस्ट रिपोर्ट में कोरोना वायरस नेगेटिव पाया गया है. लेकिन अभी तीसरे शख्स की रिपोर्ट आनी बाकी है. अब तक भारत में 96 विमानों के 20 हजार यात्रियों की थर्मल जांच की जा चुकी है.

यह भी पढ़ेंः कोरोना वायरसः चीन से मुंबई लौटे 2 लोगों के टेस्ट का रिजल्ट आया नेगेटिव

ऐसे फैला कोरोना वायरस
कहा जा रहा है कि यह वायरस जानवरों से इंसानों में फैलता है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार, यह वाइरस सी-फूड से जुड़ा है और इसकी शुरुआत चाइना के हुवेई प्रांत के वुहान शहर के एक सी-फूड बाजार से ही हुई मानी जा रही है. डब्ल्यूएचओ ने इस बात का अंदेशा भी जताया है कि यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भी फैल सकता है. यह वायरस सबसे पहले चीन के वुहान शहर से फैलना शुरू हुआ और इसके बाद इससे पीड़ित मरीज थाईलैंड, सिंगापुर, जापान में भी मिल रहे हैं. हाल ही इंग्लैंड में भी एक फैमिली के इस वायरस की चपेट में आने की जानकारी सामने आई है.

First Published: Jan 25, 2020 12:56:21 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो