ट्रंप से भी ज्यादा विवादित हैं ब्रिटेन के नए पीएम, मुस्लिम महिलाओं को लेकर कर चुके हैं अभद्र टिप्पणी

News State Bureau  |   Updated On : July 24, 2019 12:09:12 PM
बोरिस जॉनसन (फाइल फोटो)

बोरिस जॉनसन (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  Boris Johnson होंगे यूके के नए पीएम.
  •  दे चुके हैं इस्लाम और मुस्लिम महिलाओं पर कई विवादित बयान.
  •  बोरिस, इस्लाम को दुनिया के पीछे होने का मुख्य कारण मानते हैं.

नई दिल्ली :  

लंदन के पूर्व मेयर और सत्तारुढ़ कंजर्वेटिव पार्टी के सदस्य बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) यूके के नए प्रधानमंत्री बनेंगे. लेकिन इसके पहले ही उनके द्वारा दिए गए बयानों की खूब चर्चा हो रही है. बोरिस ने प्रधानमंत्री पद की रेस में वर्तमान विदेश मंत्री जेरेमी हंट को हराया है. जॉनसन को ब्रिटेन की सत्तारुढ़ कंजरवेटिव पार्टी में नेता पद के लिए हुए चुनाव में कुल 66 प्रतिशत वोट मिले थे. बोरिस जॉनसन को 'ब्रिटेन का ट्रंप' भी कहा जा रहा है. यहां तक कि यूएस राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (American President, Donald Trump) ने भी उन्हें खुद बधाई दिया है.
लेकिन बोरिस जॉनसन अपने इस्लाम विरोधी सोच को लेकर भी विवादों में रहे हैं. बोरिस जॉनसन के पीएम बनने की घोषणा होते ही 36 साल से कंजरवेटिव पार्टी में रहे मोहम्मद आमीन ने विरोध दर्ज कराने के लिए इस्तीफा दे दिया. बोरिस ने इस्लाम विरोधी कई विवादित बयान दिया है जिसके कारण उन पर इस्लामोफोबिया का आरोप भी लगता रहा है.

यह भी पढ़ें: दरिद्र पाकिस्तान ने एक साल में रिकार्ड 16 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज लिया

हाल ही में, गार्जियन में छपे एक लेख में बोरिस जॉनसन ने पश्चिमी देशों के पीछे होने का कारण मुस्लिम ही हैं. जॉनसन ने एक लेख में यह भी दावा किया था कि दुनिया के कई हिस्सों में इस्लाम ने विकास का रास्ता अवरुद्ध कर दिया. बोरिस के मुताबिक, मुस्लिम दुनिया जितना पिछड़ती गई, उतनी ही ज्यादा कड़वाहट और संशय की भावना उनके अंदर भरती गई. 2006 में रोमन साम्राज्य के बारे में लिखी अपनी एक किताब किताब 'The Dream of Rome' में बोरिस ने लिखा था कि इस्लाम के बारे में कुछ ऐसा जरूर होना चाहिए, जिससे यह समझने में मदद मिल सके कि मुस्लिम दुनिया में बुर्जुवा, नवउदारवाद और लोकतंत्र का प्रसार क्यों नहीं हो सका.

यह भी पढ़ें: पुलवामा हमले के पीछे जैश-ए-मोहम्‍मद का था हाथ, इमरान खान का कबूलनामा

इसके अलावा 2018 में अखबार 'द टेलीग्राफ' में लिखे एक कॉलम में बोरिस ने लिखा था कि जो महिलाएं बुर्का पहनती हैं, वे किसी 'लेटरबॉक्स' या 'बैंक लुटेरों' की तरह दिखाई पड़ती हैं. बुर्का बैन की बात को लेकर जॉनसन ने कहा था कि यह बहुत ही हास्यास्पद है कि लोग लेटर बॉक्स की तरह बनकर सड़कों पर घूमना पसंद करते हैं.

First Published: Jul 24, 2019 11:59:27 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो