BREAKING NEWS
  • Indian Railway: IRCTC के इस खास ऑफर से दिवाली और छठ के लिए बगैर पैसे के बुक कराएं ट्रेन टिकट- Read More »
  • 5 बीवियों का खर्च उठा न सका, बन गया ठग- Read More »
  • Pro Kabbadi League : दबंग दिल्‍ली और बंगाल वॉरियर्स फाइनल में, इस बार मिलेगा नया चैंपियन- Read More »

कंगाल पाकिस्तान को भारत से लेनी पड़ रही है ये मदद, पाकिस्तानी मीडिया का खुलासा

BHASHA  |   Updated On : July 26, 2019 01:03:44 PM
प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

इस्लामाबाद:  

कंगाल पाकिस्तान ने पिछले 16 महीनों के दौरान भारत से 250 करोड़ रुपये से अधिक के रेबीज रोधी और विष रोधी टीकों की खरीदारी की है. एक स्थानीय अखबार ने यह खबर दी है. पाकिस्तान के अखबार द नेशन ने गुरुवार को एक खबर प्रकाशित की है इसके अनुसार पाकिस्तान में पर्याप्त मात्रा में टीके नहीं बनने के कारण उसने पिछले 16 महीनों में भारत से 3.6 करोड़ डॉलर यानी 250 करोड़ रुपये से अधिक के टीकों का आयात किया है.

यह भी पढ़ें: टाटा मोटर्स का घाटा हुआ दोगुना, पहली तिमाही में करीब 3,680 करोड़ का नुकसान

प्रोडक्शन कम होने से करना पड़ रहा है इंपोर्ट
पाकिस्तान के सांसद रहमान मलिक ने भारत से खरीदी जा रही दवाओं की मात्रा और इनके मूल्य के बारे में सवाल किया. इसके बाद राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय ने संसद की स्थायी समिति को इस बारे में जानकारी दी. मंत्रालय ने कहा कि रेबीजरोधी और विषरोधी दोनों तरह के टीके देश में बनाए जाते हैं. हालांकि इससे मांग की पूर्ति नहीं हो पा रही है. इस कारण भारत से इन्हें आयात किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: Fortune Global 500: IOC को पीछे छोड़कर रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे ऊंची रैंकिंग वाली भारतीय कंपनी

महंगाई को लेकर इमरान खान सरकार के खिलाफ लोगों में गुस्सा
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को सत्ता में आने के करीब एक साल बाद लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है. पिछले साल जुलाई में सत्ता में आने के बाद से खान को भुगतान संतुलन और खस्ताहाल आर्थिक स्थितियों से जूझना पड़ रहा है.

यह भी पढ़ें: बीजेपी के इस संगठन ने फूंक दिया विरोध का बिगुल, किया इस पॉलिसी का विरोध

वित्तीय संकट से जूझ रहे पाकिस्तान में चीजों के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं. डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया 30 प्रतिशत तक टूट गया है और मुद्रास्फीति की दर करीब 9 प्रतिशत पर है. इसके अभी और बढ़ने की आशंका है.

First Published: Jul 26, 2019 01:03:44 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो